फेलिन तूफान से प्रभावित भद्रक जिले में गायत्री परिवार भुबनेश्वर के युवा कार्यकर्त्ता पानी में डूबे गाँवों में गये और तूफान-बाढ़ से बेघर हुए लोगों को सहारा दिया। उन्होंने सैकड़ों लोगों को सूखा भोजन, मोमबत्ती, कपड़े, दवाइयाँ आदि प्रदान कीं, उनमें परिस्थितियों का सामना करने का साहस जगाया। खड़ी महारा, देउलदिही, महालिक साही (साहसपुर), जेना साही (मंगलाबंकी), घाटा असाही (बमकुरा) गाँव के लोगों को उन्होंने यह राहत सामग्री प्रदान की थी। वरिष्ठ प्रतिनिधि सर्वश्री मायाधर बेहरा, प्रफुल्लचंद्र दाश और दिया के विश्वरंजन, संतोष, काशीनाथ, प्रकाश आदि ने राहत अभियान का नेतृत्व किया।


Write Your Comments Here:


img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

संस्कारित युवा पीढ़ी के निर्माण से होगा राष्ट्र निर्माण: नीलिमा

अखिल विश्व गायत्री परिवार के तत्वावधान में स्थानीय रामकृष्ण आश्रम परिसर में जिला युवा प्रकोष्ठ द्वारा 5 दिवसीय युवा व्यक्तित्व निर्माण शिविर का आयोजन किया गया है | जहाँ शिविरार्थी योग, आसान, ध्यान  समेत आध्यात्मिक और बौद्धिक ज्ञान प्राप्त कर.....

img

नेपाल में आयोजित अंतरराष्ट्रीय विश्व युवा सम्मेलन में गायत्री परिवार का प्रतिनिधित्व

Nepal 8/8/17:-अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस के उपलक्ष्य में नेपाल में आयोजित अंतरराष्ट्रीय विश्व युवा सम्मेलन में भारत देश की तरफ से अखिल विश्व गायत्री परिवार के (DIYA TEAM)  के सदस्य श्री पी डी सारस्वत व श्री अनुज कुमार वर्मा सम्मेलन में.....