Published on 2017-12-18

735 लोगों ने कराया स्वास्थ्य परीक्षण, लिया निःशुल्क औषधियाँजाग्रत् भाव संवेदना मनुष्यता की सबसे बड़ी पहचान: शैल दीदी           अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर देवसंस्कृति विश्वविद्यालय एवं मेट्रो हास्पिटल हरिद्वार के संयुक्त तत्त्वावधान में निःशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन हुआ। इसमें हरिपुर कलॉ, भूपतवाला, सप्तऋषि क्षेत्र एवं गायत्री परिवार के बड़ी संख्या लोगों ने स्वास्थ्य परीक्षण कराया।          देसंविवि में महिला दिवस के अवसर पर आयोजित निःशुल्क चिकित्सा शिविर में मेट्रो हॉस्पिटल से आये चिकित्सकों ने महिलाओं का विशेष स्वास्थ्य परीक्षण किया। उन्हें आहार-विहार के साथ बदलते मौसम के दौरान विशेष सावधानियाँ बरतने की सलाह दी। शिविर में 409 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। उधर शांतिकुंज के जन्मशताब्दी चिकित्सालय में डॉ. गायत्री शर्मा, डॉ. शिवानंद साहू, डॉ. मंजू व डॉ रामप्रकाश पाण्डेय ने 326 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया। सभी को गायत्री परिवार की ओर से निःशुल्क दवाइयाँ दी गईं।अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर संस्था की अधिष्ठात्री शैलदीदी ने कहा कि जाग्रत् भाव संवेदना मनुष्यता की सबसे बड़ी पहचान है, जो दूसरों की पीड़ा अनुभव करते हैं और उन्हें दूर करने में सहयोगी बनते हैं, सही मायनों में वे ही समाज को सही दिशा दे सकते हैं। नारी जागरण का उद्घोष करने वाली माता भगवती देवी शर्मा को याद करते हुए उन्होंने कहा कि आज बहिनें कठिन से कठिनतम कार्यों को भी पूरा करने में अदम्य साहस का परिचय दे रही हैं। बहिनें दुर्गा के रूप में भी खड़ी हो रही हैं। यह निश्चय ही बदलती दुनिया की झलक है। उन्होंने कहा कि गायत्री परिवार के प्रणेता आचार्यश्री ने इक्कीसवीं सदी को नारी सदी घोषित किया है, जो अब शनैः-शनैः दृष्टिगोचर हो रहा है।देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पण्ड्या ने बताया कि वैसे तो यहाँ जनसामान्य को प्रतिदिन निःशुल्क सेवाएँ दी जाती हैं, अतः इस शिविर में भाग लेने आये उन मरीजों को प्राथमिकता दी गयी, जो दूर-दराज से आये थे। मनोचिकित्सक डॉ पण्ड्या ने बताया कि विभिन्न प्रकार के रोगों का परीक्षण अत्याधुनिक मशीनों के माध्यम से किया गया। देसंविवि व शांतिकुंज के कई कार्यकर्त्ताओं ने भी निष्णात चिकित्सकों की सेवाओं का लाभ उठाया। इस अवसर पर मेट्रो हास्पिटल के डॉ सप्तऋषि भट्टाचार्य, डॉ. तरुश्री, डॉ समीर, डॉ. विवेक, डॉ. देवेन्द्र, डॉ सुशील, देसंविवि के डॉ वंदना श्रीवास्तव, डॉ ज्ञानेश्वर मिश्र, डॉ अश्वनी, डॉ अलका मिश्रा आदि ने स्वास्थ्य परीक्षण किया। वहीं सुदर्शन कुमार, मनोज कुमार एवं पॉली क्लिनिक के समस्त स्टाफ ने मरीजों की देखभाल में विशेष सहयोग किया।


Write Your Comments Here:


img

नेपाल प्रांत की बहिनों का पांच दिवसीय नारी जागरण शिविर का समापन

मातृ शक्ति के जागरण से ही विकास संभव -  शैलदीदीकुरीति उन्मूलन के लिए आगे आयें बहिने -  यशोदा शर्माहरिद्वार २० नवंबर।अखिल विश्व गायत्री परिवार द्वारा नारी सशक्तिकरण के लिए किये जा रहे शृंखलाबद्ध कार्यक्रम के अंतर्गत नेपाल की बहिनों.....

img

नेपाल प्रांत की बहिनों का पांच दिवसीय नारी जागरण शिविर का समापन

मातृ शक्ति के जागरण से ही विकास संभव -  शैलदीदीकुरीति उन्मूलन के लिए आगे आयें बहिने -  यशोदा शर्माहरिद्वार २० नवंबर।अखिल विश्व गायत्री परिवार द्वारा नारी सशक्तिकरण के लिए किये जा रहे शृंखलाबद्ध कार्यक्रम के अंतर्गत नेपाल की बहिनों.....

img

खण्डवा जिले के गाँव- गाँव में आयोजित हो रहे हैं नारी जागरण सम्मेलन

खरगोन। मध्य प्रदेश मातृशक्ति श्रद्धांजलि महापुरश्चरण के अंतर्गत खरगोन जिलेकी युग निर्माणी देवियों ने गाँव- गाँव कन्या कौशल शिविरों की शृंखला आरंभ की है। देव ग्राम गाँवसन में आयोजित शिविर इस शृंखला का १० वाँ शिविर था। इससे पूर्व भोइंदा, मगरखेड़ी,.....