होली उल्लास का पर्व है और अंदर-बाहर की मलीनता को मिटाकर प्रेमभाव और स्वच्छता बढ़ाने का जोरदार आन्दोलन भी। होली पर्व मनाते हुए यह उद्देश्य पूरा हो सके, इसी में पर्व मनाने की सार्थकता है। शांतिकुंज में होली के रंग खूब खिले। बच्चे-बूढ़े, सभी ने खूब आनंद लिया, वहीं परंपराओं में सुधार-परिष्कार के लिए सतत प्रयत्नशील कार्यकर्त्ताओं ने अपने योजनाबद्ध प्रयासों से इस पर्व को पूरी तरह से पर्यावरण के अनुकूल रखा। आदरणीय डॉ. साहब ने शांतिकुंज और देव संस्कृति विश्वविद्यालय में दिये पर्व संदेश में होली की महिमा और गरिमा पर प्रकाश डाला। उन्होंने प्रकृति की रक्षा के साथ, स्वास्थ्य वर्धक रंगों का प्रयोग करने, जातिवाद-लिंगभेद-अर्थभेद हटाने, नशा-कुरीतियों को समाप्त करने, परस्पर प्रेमभाव का विस्तार करने, यज्ञमय जीवन जीने जैसी अनेक प्रेरणाएँ दी। विशेषताएँ होली के रंग शांतिकुंज में ही प्राकृतिक संसाधनों से बनाये गये थे। गायत्री विद्यापीठ के नन्हे बच्चों से लेकर वयस्क-वृद्ध सभी ने इन्हीं का प्रयोग करते हुए होली खेली।  केवल बच्चों के लिए पानी वाले रंग टेसू के फूल, कुटज के फल आदि का प्रयोग कर बनाये गये थे। होलिका दहन स्थल पर दोनों ही प्रकार के रंग सभी को निःशुल्क उपलब्ध कराये गये।  शांतिकुंज में बाहर से न गुलाल आया, न किसी प्रकार का रंग।  वयस्कों ने सूखे रंगों का ही प्रयोग किया। चेहरों पर खिले ये सूखे रंग और स्नान करते समय इनके सहजता से उतर जाने से सभी आनंदित थे। कार्यक्रम होलिका दहन का कार्यक्रम श्रीरामपुरम के विशाल मैदान में दीपयज्ञ के साथ आयोजित हुआ। आदरणीया जीजी-डॉ. साहब पर्व समारोह में मुख्य रूप से उपस्थित थे। श्री श्यामबिहारी दुबे के मनोविनोदपूर्ण संचालन ने सभी को गद्गद कर दिया। रंगोत्सव का आरंभ भी आद. जीजी-डॉ. साहब द्वारा तिलक लगाये जाने के साथ हुआ।  सभी कार्यकर्त्ता और बच्चे रैली के रूप में नारे लगाते, उल्लास का संचार करते होलिका दहन स्थल तक पहुँचे। वहीं सामूहिक होली मनायी गयी।  रंगोत्सव की सायंकाल कवि सम्मेलन का आयोजन हुआ। शांतिकुंज के वरिष्ठ भाइयों ने अपने अनुजों पर स्नेहाशीषों की खूब वर्षा की। हास-परिहास में ही कार्यकर्त्ताओं ने अपनी मिशन निष्ठा और संकल्पों की अभिव्यक्ति की।  देव संस्कृति विश्वविद्यालय परिवार ने कुलाधिपति आदरणीय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी, कुलपति डॉ. सुखदेव शर्मा , प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या, कुल सचिव श्री संदीप कुमार सहित पूरे विश्वविद्यालय परिवार के साथ फूलों की होली खेली।


Write Your Comments Here:


img

शांतिकुंज के अभियान में भाग लेते हुए पाकिस्तानी जत्थे ने किया वृक्षारोपण

हरिद्वार 20 जुलाई।

अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज ने गुरुपूर्णिमा से श्रावण पूर्णिमा तक वृक्षारोपण माह घोषित किया है। इसके अंतर्गत देश भर में फैले गायत्री परिवार के परिजनों ने भी स्थान-स्थान पर वृहत स्तर पर वृक्षारोपण कर रहा है।

            इसी.....

img

गायत्री परिवार मनासा द्वारा पुस्तक मेला ,व्यसन मुक्ति एवं पर्यावरण बचाओ रैली

12 July, 2017 मनासा :आज गायत्री परिवार मनासा द्वारा शारदा विद्या निकेतन गांव झारडा में स्कूली बच्चों द्वारा व्यसनमुक्ती और पर्यावरण बचाओ की रैली निकाली गई उसके बाद जिन बच्चों का नया एडमिशन हुआ है उनके लिए विद्यारंभ संस्कार किया गया.....