काठमाण्डू में बागमती जलशुद्धि अभियान देवसंस्कृति विवि के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्या ने की शिरकत

Published on 2017-12-27

भागीरथी जलाभिषेक अभियान से अवगत हुए समग्र नेपालवासी 

 नेपाल की राजधानी काठमाण्डू की जीवनदायिनी बागमती जलशुद्धि अभियान का 50वाँ सप्ताह नेपाल के राष्ट्रपति महामहिम रामबदन यादव एवं देवसंस्कृृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्या जी की गरिमामयी उपस्थिति में संपन्न हुआ। हजारों स्वयंसेवकों की उपस्थिति में बागमती नदी की सफाई का 50वाँ सप्ताह शहर मध्य स्थित विश्वप्रसिद्ध गूह्येश्वरी मन्दिर प्रांगण में संपन्न हुआ। इस अवसर पर नेपाल के महामहिम राष्ट्रपति ने कहा कि आज मुझे 56 वर्ष पूर्व की बागमती याद आ रही है, जब बागमती के दोनों तट स्वच्छ और सुन्दर हुआ करते थे। किन्तु पिछले कुछ वर्षों से शहर के कूड़े- कचरे गिरने के कारण यह पवित्र बागमती  एक गन्दे नाले के रूप में तब्दील हो गयी थी। मैं आभारी हूँ 54 से अधिक स्वयंसेवी संस्थाओं, सेना, स्कूली बच्चों सहित हरिद्वार स्थित अखिलविश्व गायत्री परिवार का, जिन्होंने बागमती सफाई का यह अभिनव प्रयोग प्रारम्भ किया। जिसके कारण आज 50वें सप्ताह में मुझे पुनः बागमती का वही स्वरूप देखने को मिल रहा है। उन्होंने इस अवसर पर बागमती स्वच्छता का संकल्प दिलाया। 

इस अवसर पर गायत्री परिवार का प्रतिनिधित्व करते हुए देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्या जी ने भागीरथी जलाभिषेक अभियान के बारे में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस अभियान के अन्तर्गत भारत की प्रमुख नदियों गंगा, नर्मदा, ताप्ती आदि नदियों पर जलशुुद्धि एवं संरक्षण का जन जागरण अभियान चलाया जा रहा है। जिसके अन्तर्गत विश्व की महानतम कही जाने वाली माँ गंगा के गोमुख से गंगासागर तक 2525 किमी० जलुशद्धि अभियान का कार्य भी गायत्री परिवार के द्वारा चलाया जा रहा है, जिसका द्वितीय चरण संपन्न हो चुका है। सात चरणों में निरन्तर यह कार्य चलता रहेगा। 

इसी भागीरथी जलाभिषेक अभियान के अन्तर्गत यह बागमती स्वच्छता अभियान का कार्य पिछले 50 सप्ताहों से निरन्तर चल रहा है। इस अवसर डा० पण्ड्या ने कहा  कि भारत के प्रमुख तीर्थों की शुद्धि अभियान के साथ पर्यावरण संरक्षण हेतु वृक्षगंगा अभियान भी गायत्री परिवार द्वारा चलाया जा रहा है, जिसमें अभी तक ७० लाख से अधिक वृक्षों का रोपण एवं संरक्षण का कार्य किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में हो रहे इन प्रत्येक अभियान से बड़ी संख्या में लोग जुड़ रहे हैं। 

बागमती जलशुद्धि अभियान में 1000 से अधिक स्वयंसेवकों, नेपाली आर्मी, पुलिस फोर्स, गायत्री परिवार समेत 54 से अधिक संस्थाओं के स्वयंसेवकों द्वारा बागमतीके श्लेषमानतक फोरेस्ट, गौरीघाट, भगवान पशुपतिनाथ मन्दिर आदि स्थानों की सफाई प्रति शनिवार को की जाती है। इस अभियान के अन्तर्गत अभी तक 900 मैट्रिक्स टन कूड़ा कर्कट नदी से निकाला जा चुका है। 





img

विभिन्न संगठनों के साथ मिलकर गायत्री परिवार ने चलाया ‘ताप्ती शुद्धि अभियान’

बुरहानपुर : बुरहानपुर में गायत्री परिवार ने विभिन्न संगठनों के साथ मिलकर ताप्ती अंचल शुद्धि अभियान चलाया । इस अभियान में पतंजलि योग पीठ के साथ विभिन्न सामाजिक संगठनों ने हिस्सा लिया । कार्यक्रम में जिला कलेक्टर श्री दीपक सिंह, नगर.....

img

जल स्त्रोत शुद्धीकरण एवं स्वछता अभियान – गोरेगाँव (जि. गोंदिया,महा.)

गोरेगाँव : अखिल विश्व गायत्री परिवार द्वारा चलाए जा रहे 7 सूत्रीय आंदोलन के राष्ट्रीय सम्मेलन (अक्टूबर २०१६ – हरिद्वार) में गायत्री परिवार गोरेगाँव (जि.गोंदिया,महा.) एवं दिया युवा संघटना के साथियों ने भी संकल्प लिया था। इसी के तहत स्वच्छता एवं जल स्त्रोत शुद्धिकरण.....