Published on 2017-12-23
img


निर्मल गंगा जन अभियान के प्रभारी केदार प्रसाद दुबे ने पावर प्वांइटप्रेजेंटेशन के माध्यम से गंगा की कथा- व्यथा एवं समाधान की विस्तृत चर्चा की। उन्होंने कहा की गंगा भारतीय संस्कृति का आधार है। भारतीय सभ्यता का पहला विकास गंगा के तट पर ही हुआ। ज्ञान, अध्यात्म और आर्थिक विकास का आधार गंगा ही बनी, लेकिन आज गंगा अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही हैं।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय नदी का दर्जा प्राप्त गंगा के इस हाल को ठीक करने के लिए गायत्री परिवार ने निर्मल गंगा जन अभियान का भागीरथी पुरुषार्थ आरम्भ किया है। पिछले दो साल से चल रहे इस अभियान के दो चरण पूरे हो चुके हैं। पांच चरणों में पूरा होने वाले इस अभियान का तीसरा चरण आरम्भ हो चुका है, इसके अंतर्गतं गंगा के तटवर्ती क्षेत्र में अमृत कलश जन जागरूकता रथ चल रही है। साथ- साथ सैकड़ों लोग पदयात्रा कर लोगों को गंगा स्वस्छता के लिए जागरूक करेंगे। गंगा तटों को हरि चूनर पहनाने के लिए बृहत् स्तर पर वृक्षारोपण किया जाएगा।

यह क्रम देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्या जी के नेतृत्व में वंदनीया माता भगवती देवी शर्मा की जन्मशताब्दी समारोह 2026 तक निरंतर जारी रहेगा।


Write Your Comments Here:


img

विभिन्न संगठनों के साथ मिलकर गायत्री परिवार ने चलाया ‘ताप्ती शुद्धि अभियान’

बुरहानपुर : बुरहानपुर में गायत्री परिवार ने विभिन्न संगठनों के साथ मिलकर ताप्ती अंचल शुद्धि अभियान चलाया । इस अभियान में पतंजलि योग पीठ के साथ विभिन्न सामाजिक संगठनों ने हिस्सा लिया । कार्यक्रम में जिला कलेक्टर श्री दीपक सिंह, नगर.....

img

जल स्त्रोत शुद्धीकरण एवं स्वछता अभियान – गोरेगाँव (जि. गोंदिया,महा.)

गोरेगाँव : अखिल विश्व गायत्री परिवार द्वारा चलाए जा रहे 7 सूत्रीय आंदोलन के राष्ट्रीय सम्मेलन (अक्टूबर २०१६ – हरिद्वार) में गायत्री परिवार गोरेगाँव (जि.गोंदिया,महा.) एवं दिया युवा संघटना के साथियों ने भी संकल्प लिया था। इसी के तहत स्वच्छता एवं जल स्त्रोत शुद्धिकरण.....