वृक्ष गंगा अभियान - वर्ष 2014-15
विशेष लक्ष्यित कार्ययोजना
अभियान की लक्ष्यित अवधि :  गुरुपूर्णिमा ( 12 जुलाई ) से श्रावणी पर्व ( 10 अगस्त )

http://diya.net.in/Projects/Vriksha_Ganga_Abhiyan">Link for Vruksha Ganga Abhiyan Project Details & Downloads

  • आपके शक्तिपीठ / मण्डलों के लिये एक हजार वृक्षों का लक्ष्य अपेक्षित है, इसके अनुसार पूरे भारत में 35 लाख वृक्ष लगाये जा सकेंगे।
  • वृक्ष लगाने हेतु स्थान का निर्धारण अभी से कर लें। इसके लिये मंदिर/अन्य धार्मिक स्थल, शिक्षण संस्थान, सार्वजनिक पार्क, नजदीकी टेकरी, तालाब या नदी का किनारा, काॅलोनियाँ, टाउनशिप, आपके नगर से निकलने वाले राजमार्ग आदि के किनारे पर स्थान का उपयोग किया जा सकता है।
  •  स्थान निर्धारण के पश्चात् उसके लिये यदि आवश्यक हो तो संबंधित अनुमति आदि प्राप्त कर लें।
  •  चुने हुये स्थान पर पूर्व में जाकर देख लें एवं समतलीकरण, गढ्ढे खुदवाना आदि कार्य अग्रिम में करवा लें।
  •  लगाये जाने वाले पौधों के रोपे की नर्सरी/वन विभाग से अग्रिम व्यवस्था कर लें।
  •  इस अवधि में गुरुपूर्णिमा, चार रविवार, नागपंचमी एवं रक्षाबंधन का दिन आ रहा है, इसके अतिरिक्त क्षेत्रीय त्यौहार भी हो सकते हैं जिन तिथियों पर भिन्न स्थानों पर वृक्षारोपण किया जा सकता है। जन्मदिन, विवाह दिन आदि पर भी क्रम हो सकता है।
  •  टोलियों का निर्धारण, रिपोर्टिंग हेतु छायाचित्र, यदि संभव हो तो मीडिया आदि का निर्धारण आदि पूर्व से कर लिया जाये।
  •  आवश्यक सामग्री, फावड़ा, गैंती सिंचाई के लिये बाल्टी/हजारा आदि रख लें।
  •  लगाये जाने वाले पौधों में नीम, पीपल, पलाश, आंवला, अशोक/सीता अशोक, पाकड़ आदि का चयन किया जा सकता है।
  •  कार्यक्रम में तरुपुत्र महायज्ञ कर्मकांड का समावेश करें जिससे उपस्थित परिजन भावनात्मक रूप से जुड़ जायेंगे। इसके कारण पौधों की देखरेख भी सुनिश्चित हो जाती है।
  •  नागरिकों को शक्तिपीठ या युवा / प्रज्ञा मंडल के माध्यम से इस पूरी अवधि में तरुप्रसाद के रूप में एक एक पौधा दिया जा सकता है जिससे इस अभियान का गति मिलेगी।
  •  कार्यक्रम का यथेष्ठ प्रचार प्रसार हो जिससे अधिकतम व्यक्ति जुड़ सकें। इससे हमें कई प्रकार की मदद भी भविष्य में प्राप्त हो सकती है। वृक्षारोपण रैली आदि का आयोजन किया जा सकता है।
  •  अपने कार्यक्रम की रिपोर्ट, वृक्षों की संख्या,फोटो आदि के साथ शान्तिकुन्ज हरिद्वार को अवश्य भेजें जिसे मेल से भी youthcell@awgp.org पर भेजा जा सकता है।


Write Your Comments Here:


img

शांतिकुंज में पर्यावरण दिवस पर हुए विविध कार्यक्रम

वृक्षारोपण वायु प्रदूषण से बचने का सर्वमान्य उपाय - श्रद्धेय डॉ. पण्ड्याजीसंस्था की अधिष्ठात्री ने नागकेशर के पौधा का किया पूजनसायंकालीन सभा में भारतीय संस्कृति व पर्यावरण संरक्षण के लिए हुए संकल्पितहरिद्वार 5 जून।अखिल विश्व गायत्री परिवार के मुख्यालय शांतिकुंज.....

img

चट्टानी जमीन पर रोपे ११०० पौधे

कठिन परिस्थितियाँ, पक्का इरादातरुपुत्र महायज्ञ संयोजक गायत्री परिवार के श्री मनोज तिवारी एवं श्री कीर्ति कुमार जैन ने बताया-चट्टानी जमीन पर वृक्षारोपण के लिए आठ दिन पहले से ही गड्ढे खोदे जा रहे थे।सिंचाई के लिए निकट ही ५०० बोरी.....

img

वृक्ष गंगा अभियान के तहत किया 5001पौधों का रोपण , शाजापुर ( मप्र )

कालापीपल मंडी।बचपन के पालने से लेकर अंत्येष्टी की लकड़ी तक वृक्षों से प्राप्त होती है। वृक्ष प्राणी जगत को आधार देते हैं। वे संसार का विष पीकर प्राण वायु प्रदान करते हैं। एक मनुष्य को संपूर्ण जीवन में जितनी ऑक्सीजन.....