जल संरक्षण का एक सफल प्रयोग

Published on 2017-12-27
img


अल्मोडा का एक मनोरम पर्यटक केन्द्र है ‘खाली स्टेट’, जिसके व्यवस्थापक गायत्री परिवार के नैष्ठिक कार्यकर्त्ता श्री एम.डी. पाण्डेय हैं। जिला मुख्यालय से २० कि.मी. दूर बिंसर वाइल्ड लाईफ सेंचुरी के अंदर हिमालयन क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सरदार वल्लभ भाई पटेल ने इसकी स्थापना की थी। 

यह मनोरम पर्यटन स्थल पानी की घोर समस्या से ग्रस्त था। इसके समाधान के लिए श्री पाण्डेय जी ने प्रशासनिक स्तर पर कई प्रयास किये, लेकिन जब कहीं से कोई सहयोग न मिला तो गुरु-प्रेरणा से परिस्थितियों को बदलने की उन्होंने एकाकी पहल की। उनकी लगन और निरंतर प्रयासों से वहाँ की प्रकृति और परिस्थिति ही बदल गयी। आज इस क्षेत्र में पानी का प्रचुर भंडार है। 


वॉटर रिजरवॉयर बनाये
श्री एम.डी. पाण्डे ने जल संरक्षण की अनेक योजनाओं का अध्ययन करने के बाद भूगर्भीय रिजरवॉयर बनाकर जल संग्रहण, वर्षाजल शोधन और एकत्रीकरण का कार्य आरंभ किया। सन् १९८२ में योजना कुछ हजार लीटर जल संग्रहण से आरंभ हुई थी। आज भी वहाँ ४० से ५० हजार लीटर जल संग्रहण के लिए रिजरवॉयर हर वर्ष बनाये जा रहे हैं। आज उस क्षेत्र में १५ लाख लीटर जल संग्रहीत है, जिसका उपयोग वे अपने रिसॉर्ट में, उद्यान के लिए और फिर जरूरतमंदों के लिए करते हैं। बाकी बचा जल क्षेत्र के भूगर्भ में जलस्तर बढ़ा रहा है।  


पाईन की जगह ओक और देवदार
क्षेत्र में जलस्तर का नीचे चले जाने का एक बड़ा कारण था वहाँ प्रचुर मात्रा में लगाये गये पाइन के वृक्ष। यह जानते हुए हुए कि पाइन के वृक्ष जमीन से बहुत ज्यादा पानी सोखते हैं, उनसे जलस्तर नीचे गिरता जाता है, किसी ने इस दिशा में कोई कार्यवाही नहीं की थी। श्री पाण्डेय जी ने विधायक, मंत्री, सांसदों तक से इस ओर ध्यान देने की गुहार लगाई। अंततः ‘एकला चलो’ की रीतिनीति अपनाई और लगन, साहस और कड़ी मेहनत से शानदार सफलता पायी। उन्होंने पाइन के पेड़ों के स्थान पर ओक और देवदार के पेड़ लगाने आरंभ कर दिये। तीन चार किलोमीटर क्षेत्र में वे पाइन के पेड़ों को हटाकर ओक और देवदार के वृक्ष लगा चुके हैं। क्रमशः परिणाम स्पष्ट दृष्टिगोचर होने लगे। वहाँ के वातावरण में नमी और ठंडक बढ़ती गयी और भूगर्भीय जलस्तर उठता चला गया। 


img

विभिन्न संगठनों के साथ मिलकर गायत्री परिवार ने चलाया ‘ताप्ती शुद्धि अभियान’

बुरहानपुर : बुरहानपुर में गायत्री परिवार ने विभिन्न संगठनों के साथ मिलकर ताप्ती अंचल शुद्धि अभियान चलाया । इस अभियान में पतंजलि योग पीठ के साथ विभिन्न सामाजिक संगठनों ने हिस्सा लिया । कार्यक्रम में जिला कलेक्टर श्री दीपक सिंह, नगर.....

img

जल स्त्रोत शुद्धीकरण एवं स्वछता अभियान – गोरेगाँव (जि. गोंदिया,महा.)

गोरेगाँव : अखिल विश्व गायत्री परिवार द्वारा चलाए जा रहे 7 सूत्रीय आंदोलन के राष्ट्रीय सम्मेलन (अक्टूबर २०१६ – हरिद्वार) में गायत्री परिवार गोरेगाँव (जि.गोंदिया,महा.) एवं दिया युवा संघटना के साथियों ने भी संकल्प लिया था। इसी के तहत स्वच्छता एवं जल स्त्रोत शुद्धिकरण.....