img

 जिले में सदर प्रखंड के बेजवाली गाँव के ग्रामीणों ने वन रक्षण का आदर्श दृष्टांत प्रस्तुत किया है। इस गाँव की 125 एकड़ भूमि पर सखुआ के पेड़ लगाये गये हैं, जो गाँववासियों की लकड़ी की सभी जरूरतें पूरी करने के बाद भी हरे-भरे और सुरक्षित हैं।
बेजवाली के निवासी बिजू भगत, सोमई उरांव, गंजारी भगत, दुयनी उरांव, अनिता भगत, ग्राम प्रधान रवि भगत आदि बताते हैं कि उनके गाँव में जंगल संरक्षण की सदियों पुरानी परंपरा है, जिसका निर्वाह वे आज तक कर रहे हैं। इस संदर्भ में गाँव में एक वन रक्षा समिति का गठन किया गया है, जो प्रत्येक गुरुवार को बैठक कर वनरक्षा और ग्राम विकास के मुद्दों पर चर्चा करती है। जिन्हें जंगल से लकड़ी की जरूरत होती है, वे इस बैठक में समिति से अनुमति लेते हैं। बिना वजह और व्यावसायिक हितों के लिए लकड़ी काटना अपराध है। जो ऐसा करता है, उसके लिए दण्ड की व्यवस्था भी गाँववालों ने रखी है।
ताकि वन सुरक्षित रहें...
बेजवाली गाँव की वनरक्षा समिति विवाह के अवसर पर जलावन, सिंचाई के लिए लाठ-खूँटा बनाने जैसी जरूरतों के लिए गाँववासियों को लकड़ी काटने की अनुमति देती है। लेकिन पेड़ों की कटाई उनकी सुरक्षा का पूरा ध्यान रखते हुए प्राचीन पद्धति से ही करने की अनुमति होती है।
पेड़ों की 10 मीटर ऊपर से ही कटाई की अनुमति दी जाती है, ताकि मुख्य तना सुरक्षित रहे और ऊपर की मोटी डालियाँ काटी जा सकें। एक बार जिस पेड़ को काटा गया, आने वाले दस वर्षों तक फिर उसे काटने की अनुमति किसी को नहीं दी जाती। यही कारण है कि गाँव वालों की तमाम आवश्यकताओं को पूरा करने के बावजूद बेजवाली का जंगल आज भी हरा-भरा है, जबकि जिले के अन्य इलाकों में वन्य क्षेत्रफल में काफी कमी आयी है।


Write Your Comments Here:


img

शांतिकुंज के अभियान में भाग लेते हुए पाकिस्तानी जत्थे ने किया वृक्षारोपण

हरिद्वार 20 जुलाई।

अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज ने गुरुपूर्णिमा से श्रावण पूर्णिमा तक वृक्षारोपण माह घोषित किया है। इसके अंतर्गत देश भर में फैले गायत्री परिवार के परिजनों ने भी स्थान-स्थान पर वृहत स्तर पर वृक्षारोपण कर रहा है।

            इसी.....

img

गायत्री परिवार मनासा द्वारा पुस्तक मेला ,व्यसन मुक्ति एवं पर्यावरण बचाओ रैली

12 July, 2017 मनासा :आज गायत्री परिवार मनासा द्वारा शारदा विद्या निकेतन गांव झारडा में स्कूली बच्चों द्वारा व्यसनमुक्ती और पर्यावरण बचाओ की रैली निकाली गई उसके बाद जिन बच्चों का नया एडमिशन हुआ है उनके लिए विद्यारंभ संस्कार किया गया.....