मध्यप्रदेश के इमलिया में गायत्री परिवार द्वारा संपन्न हुई राष्ट्रीय गौ विज्ञान कार्यशाला

Published on 0000-00-00

भारत भर के गौ विज्ञान से जुड़े लोगों ने की शिरकत

     मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से सटे इमलिया में राष्ट्रीय गौ विज्ञान कार्यशाला सम्पन्न हुई। इस कार्यशाला का नेतृत्व करके लौटे अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख एवं देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पंड्या ने कार्यशाला में हुई चर्चाओं के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कार्यशाला को संबोधित करते हुए  कहा की गायत्री परिवार देश में करीब १० साल से आदर्श ग्राम योजना चला रहा है और अब तक सैकड़ों गाँवों को आदर्श ग्राम के साँचे में ढाले जा चुके हैं। हमारे आदर्श गाँव वाकई आदर्श हैं। भारत युवाओं का देश है और युवा अध्यात्म व आदर्श के रास्ते पर चलकर देश-दुनिया में अपना नाम रौशन कर सकते हैं। उन्होंने गौमाता की हाल की जो स्थिति है, उसका वर्णन करते हुए कहा कि आज हम हमारी माँ पर जुल्म कर रहे हैं। उन्हें प्रताड़ित करते हैं। इसी कारण का है कि हमारी आर्थिक ढाँचा लड़खड़ा रहा है। डॉ. पण्ड्या ने कहा कि गौ के संरक्षण से ही भारत का अर्थतन्त्र पुनर्जीवित हो पाएगा। उन्होंने गौमाता को राष्ट्र की धरोहर बताते हुए कहा कि जहाँ गाय पालन की जाती है, वहाँ धन की कमी नहीं होती। भारतीय संस्कृति गौ संस्कृति है। हर गांव, शहर और कस्बे में गौशाला और हर घर में गाय पालन होना चाहिए। उन्होंने अखिलविश्व गायत्री परिवार की ओर से भारत के प्रधानमन्त्री को आवाहन करते हुए कहा कि इस देश में गौवध पर प्रतिबन्ध होना चाहिए। इस हेतु हस्ताक्षर अभियान चलाने का डॉ. पण्ड्या ने आवाहन किया।

डॉ. पंड्या ने यहाँ आदर्श ग्राम योजना के अंतर्गत श्रीराम आरण्यक का शुभारंभ किया। इसमें साधना केन्द्र, ग्रामोद्योग केन्द्र्र्र, वनवासी आरोग्य धाम तथा वनांचल ग्रामों के गरीब बच्चों के लिए माता भगवती देवी शर्मा वात्सल्य केन्द्र्र का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उनने मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चैहान से मिलकर आदर्श ग्राम योजना पर चर्चा की।

डॉ. पण्ड्या जी के अलावा इस अवसर पर मध्यप्रदेश के संस्कृति और पर्यटन मन्त्री सुरेन्द्र पटवा, महाराष्ट्र के गौविज्ञान अनुसन्धान केन्द्र के सुनील मानसिंहा, प्रथमेश व्यास आदि ने भी गौ विज्ञान पर विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर डॉ. डीपी सिंह, प्रदीप दीक्षित, विष्णुभाई पण्ड्या एवं केदार प्रसाद दुबे ने अपने विचार व्यक्त किए।

img

04 से 12 जून तक 108 गांवों में ग्राम तीर्थ यात्रा निकाली गई, चिल्हाटी – बिलासपुर (छ.ग.)

चिल्हाटी  : देव संस्कृति विद्यालय चिल्हाटी जिला बिलासपुर (छ.ग.) को केन्द्र मान कर आस पास के 108 गांव में गायत्री मिशन के कार्यों का विस्तार एवं प्रचार प्रसार के तहत प्रथम चरण में 75 गांव तक सप्त सूत्रीय आन्दोलन की.....