Published on 2015-04-30

२५ अप्रैल को आये विनाशकारी भूकंप ने नेपाल व भारत को एक ऐसी पीड़ा दी है, जिससे उबरने के लिए सामूहिक प्रयास की महती आवश्कता होगी। भारत सरकार एवं विभिन्न सामाजिक संस्थाएँ साथ मिलकर कार्य कर रही हैं, वहीं धर्म क्षेत्र से जुड़े दो बड़े संस्थान भी एक साथ खड़े हो गये हैं। बौद्ध धर्म प्रमुख दलाई लामा ने भी गायत्री परिवार द्वारा आपदा में प्रदान की जा रही भारतीय सहायताओं को हृदय से सराहा है। इस आशय की जानकारी धर्मशाला में उनसे मिलकर लौटकर डॉ चिन्मय पण्ड्या ने दी। डॉ चिन्मय गायत्री परिवार प्रमुख डॉ प्रणव पण्ड्याजी के वरिष्ठ प्रतिनिधि के रूप में धर्मशाला गये थे।

उन्होंने बताया कि बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा भी इस त्रासदी से काफी आहत हैं और उन्होंने इस हेतु गायत्री परिवार द्वारा किए जा रहे प्रयासों को यथोचित सहयोग देने का आश्वासन दिया है। उन्होंने बताया कि गायत्री परिवार भूकंप आने के तुरंत बाद से ही राहत कार्य में जुटा हुआ है। गायत्री परिवार की ओर से अब तक भूकंप से सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्र नेपाल के काठमांडू, जलजीरे (सिंधु) और भक्तपुर में बैस कैम्प चलाकर लोगों की मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति की जा रही है। इन कैम्पों में करीब पांच हजार से अधिक सेवाव्रती युवा जुटे हैं।


Write Your Comments Here:


img

केरल में राहत कार्य । घर घर जाकर बांटी जा रही है राहत सामग्री

केरल में आई बाढ़ के प्रकोप से सभी भलीभाँति परिचित हैं। मानव सेवा- माधव सेवा को अपनाते हुए पीड़ित मानवता के दु:ख- दर्द में सदैव साथ दिखाई देने वाले गायत्री परिवार केरल के बाढ़ पीड़ित क्षेत्रों में सेवा कार्य तीव्र.....

img

केरल में बाढ़ राहत कार्यों में अविलम्ब जुट गया गायत्री परिवार

केरल में आई बाढ़ के प्रकोप से सभी भलीभाँति परिचित हैं। लगभग हर टेलीविजन चैनल पर दिखाए जा रहे बाढ़ के समाचार प्रत्येक संवेदनशील व्यक्ति को आहत कर रहे हैं। ८ अगस्त को बादल फटने से आरंभ हुई जल प्रलय.....

img

Kerala flood Relief Camp 2018

सभी भाई बहनों को प्रणाम। केरल में बाढ़ से पीड़ितों का सहायता पहुचाने के लिए All world gaytri parivar,Kochi की ओर से सहायता के रूप में निम्न वस्तु को देने का कलेक्टर साहब से वादा किया.....