Published on 2015-07-21

कोलकाता (प.बंगाल)
गायत्री परिवार यूथ ग्रुप कोलकाता ने चार वर्ष पूर्व भोपाल में आयोजित प्रांतीय युवा चेतना शिविर में नियमित वृक्षारोपण करने का संकल्प लिया। यह संकल्प मात्र श्री रवि शर्मा और उनके ४-५ पाँच साथियों ने लिया था। ढेरों आशंकाएँ थीं कि इतने बड़े महानगर में जनसहयोग कैसे मिलेगा, अभियान कैसे चलेगा? साहसी कदम बढ़े तो ऐसी शानदार सफलता मिली, जिसे इतिहास याद करेगा। कोलकाता महानगर की निरंतर बढ़ती हरियाली लोगों को गायत्री परिवार के संकल्प और साहस की सतत याद दिलाती रहती है, दिलाती रहेगी। 

  •  २२००० से अधिक पीपल, नीम, आम, कृष्ण चूड़ामणि, राधा चूड़ामणि, सुपारी, अशोक आदि के पौधे लगाये जा चुके हैं
  •  सड़कों के किनारे, बीच में, गली, गाँव, पार्क, सार्वजनिक स्थलों और पार्कों में किया गया है वृक्षारापेण
  •  १०० युवा कार्यकत्र्ता इस अभियान में नियमित, नैष्ठिक सहयोग दे रहे हैं
  •  हर रविवार को होता है वृक्षारोपण
  •  स्थानीय विधायक, पार्षद और पचासों क्लब इस अभियान का समर्थन कर रहे हैं, सहयोग दे रहे हैं
  •  अब लोग स्वत: बुलाते और वृक्षारोपण कराते हैं। आगे के अनेक सप्ताह प्राय: बुक ही रहते हैं
  •  २४६ सप्ताह पूरे हो चुके हैं, २५० वें सप्ताह में शांतिकुंज आकर वृक्षारोपण करने का मानस है इस युवा संगठन का

चार वर्ष पूर्व जो पेड़ लगाये गये थे, वे आज प्राय: वृक्ष बने, फलों से लदे दिखाई देते हैं। इन पेड़ों के कारण पंछियों का आना भी बढ़ गया है। 
गायत्री परिवार के वृक्षारोपण अभियान ने कई कॉम्प्लेसों का सौंदर्यीकरण किया है। 
जीपीवायजी कोलकाता ने पियरलेस नगर में ३०० पेड़ लगाकर एक पार्क बनाया। एक वर्ष बाद वह स्थान अब बच्चों के खेलने का स्थान बन गया है। चारों तरफ हवा में लहराते पेड़ ऐसे लगते हैं जैसे वे भी बच्चों के साथ खेल रहे हों। 


Write Your Comments Here:


img

शांतिकुंज में पर्यावरण दिवस पर हुए विविध कार्यक्रम

वृक्षारोपण वायु प्रदूषण से बचने का सर्वमान्य उपाय - श्रद्धेय डॉ. पण्ड्याजीसंस्था की अधिष्ठात्री ने नागकेशर के पौधा का किया पूजनसायंकालीन सभा में भारतीय संस्कृति व पर्यावरण संरक्षण के लिए हुए संकल्पितहरिद्वार 5 जून।अखिल विश्व गायत्री परिवार के मुख्यालय शांतिकुंज.....

img

चट्टानी जमीन पर रोपे ११०० पौधे

कठिन परिस्थितियाँ, पक्का इरादातरुपुत्र महायज्ञ संयोजक गायत्री परिवार के श्री मनोज तिवारी एवं श्री कीर्ति कुमार जैन ने बताया-चट्टानी जमीन पर वृक्षारोपण के लिए आठ दिन पहले से ही गड्ढे खोदे जा रहे थे।सिंचाई के लिए निकट ही ५०० बोरी.....

img

वृक्ष गंगा अभियान के तहत किया 5001पौधों का रोपण , शाजापुर ( मप्र )

कालापीपल मंडी।बचपन के पालने से लेकर अंत्येष्टी की लकड़ी तक वृक्षों से प्राप्त होती है। वृक्ष प्राणी जगत को आधार देते हैं। वे संसार का विष पीकर प्राण वायु प्रदान करते हैं। एक मनुष्य को संपूर्ण जीवन में जितनी ऑक्सीजन.....