Published on 2016-09-19

गायत्री परिवार की संस्थापिका की स्मृति में चलाया जाएगा स्वच्छता अभियान

हरिद्वार १९ सितंबर।
अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज द्वारा संचालित निर्मल गंगा जन अभियान का पाँचवां चरण २० सितंबर को प्रारंभ होगा। इस दिन २५२५ किमी की दूरी तय करने वाली पतित पावनी गंगा के सैकड़ों घाटों में एक साथ सफाई अभियान चलाया जायेगा। इस अभियान में गायत्री परिवार के साथ विभिन्न संगठनों के लाखों सेवाव्रती कार्यकर्त्ता नर-नारी भाग लेंगे। इस अभियान में हरिद्वार में ठोकर नं० १ से २० तक शांतिकुंज, देसंविवि व विभिन्न साधना सत्रों में आये हुए साधक गण भाग लेंगे, वहीं बीएचईएल, कनखल, हरिद्वार के कार्यकर्त्ता मालवीय घाट, श्रीराम घाट आदि में स्वच्छता अभियान चलायेंगे।

अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने बताया कि निर्मल गंगा जन अभियान के इस चरण में उत्तर प्रदेश के १५२, बिहार के ५२ और उत्तराखंड के उत्तरकाशी, नई टिहरी, ऋषिकेश और हरिद्वार के कई घाट शामिल रहेंगे। उन्होंने बताया कि गंगा नदी को साफ रखने तथा उनके तटों एवं घाटों को शुद्ध बनाये रखने के लिए भागीरथी के निकटवर्ती गांवों में गंगा प्रज्ञा मण्डलों का गठन किया जाएगा। साथ ही प्रत्येक घर में देवस्थापना एवं गंगाजल प्रतिष्ठित करने की योजना है जिसमें हर आयु-वर्ग के लोगों की भागीदारी सुनिश्चित की जायेगी तथा स्कूल, कॉलेजों के विद्यार्थियों को भी इस अभियान में जोड़ा जायेगा। गायत्री परिवार प्रमुख ने बताया कि गंगा में सिवर लाइन, घाटों में साबुन व अन्य कूड़ा-करकट डालने से रोकने के लिए व्यापक जनजागरण किया जाएगा और इसके लिए दस हजार से अधिक साइकिल यात्रा निकाली जायेंगी। गंगा के दोनों तटों में बड़ी संख्या में वृक्षारोपण भी किये जायेंगे।

अभियान की जानकारी देते हुए निर्मल गंगा जन अभियान के समन्वयक श्री केदार प्रसाद दुबे ने बताया कि २० सितंबर को अखिल विश्व गायत्री परिवार की संस्थापिका स्नेह सलिला माता भगवती देवी शर्मा का अवतरण दिवस है। इस अवसर पर गायत्री परिवार के लाखों परिजन  पूजनीया माताजी की स्मृति में माँ गंगे की गोद व अन्य जलस्रोतों में उतर कर उन्हें साफ-सुथरा करेंगे। इसके साथ ही निर्मल गंगा जन अभियान का पांचवें चरण का शुभारंभ हो जायेगा, जो अगले कई महीनों तक चलेगा। इसमें देश भर के लाखों गायत्री साधक नर-नारी, विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों, विद्यार्थी, राजनेताओं सहित अनेक वर्ग के लोग भागीदारी करेंगे। उन्होंने बताया कि गायत्री परिवार के अंतरराष्ट्रीय मुख्यालय शांतिकुंज ने इन कार्यक्रमों के लिए एक अलग टीम बनाई है, जो गंगोत्री से गंगासागर तक चलने वाले इस महाभियान की रूपरेखा बनाने से लेकर इसे क्रियान्वित करने तक के लिए मनोयोग से जुटी है।


Write Your Comments Here:


img

गायत्री परिवार प्रमुखद्वय से मार्गदर्शन ले गंगा सेवा मंडल प्रशिक्षण टोली रवाना

हरिद्वार १४ नवंबर।अखिल विश्व गायत्री परिवार द्वारा संचालित निर्मल गंगा जन अभियान के अंतर्गत संगठित गंगा सेवा मंडलों के प्रशिक्षण हेतु बुधवार को पांच सदस्यीय एक टोली शांतिकुंज से रवाना हुई। ये टोली बिजनौर से लेकर उन्नाव तक के शहरों.....

img

शांतिकुंज ने की गंगा घाटों की सफाई, चार सौ से अधिक स्वयंसेवकों ने बहाया पसीना

हरिद्वार, 28 अक्टूबर।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज के अंतेःवासी कार्यकर्ता भाई-बहिन एवं विभिन्न प्रशिक्षण सत्रों में देश भर से आये चार सौ से अधिक स्वयंसेवकों ने सप्तसरोवर क्षेत्र के गंगा घाटों की सफाई में जमकर पसीना बहाया। इस दौरान साधकों ने मानव.....