योग प्रशिक्षक प्रशिक्षण शिविर

Published on 0000-00-00
img

शिविर की तिथियाँ :
१ से ७ नवम्बर २०१६, ५ से १२ दिसम्बर २०१६ और ५ से १२ जनवरी २०१७

योग भारतीय संस्कृति का आधार है। यह व्यक्तित्व के समग्र (शारीरिक, मानसिक, आत्मिक) विकास का आधार है। नियमित योगाभ्यास से शरीर स्वस्थ रहता है, आत्मबल बढ़ता है, साहस जागता है, संवेदनाएँ उभरती हैं। आज के व्यक्तिगत जीवन में तरह- तरह के शारीरिक व मानसिक रोग, तनाव, क्रोध, आवेश, उद्विग्नता आदि का अचूक उपाय है योग। इसके सामूहिक प्रयोगों से सामाजिक सामंजस्य- सद्भाव बढ़ेगा, हिंसा, तनाव, नारी उत्पीड़न जैसी समस्याओं का समाधान होगा।

प्रसन्नता की बात है कि आज समाज में योग के प्रति जागरूकता बढ़ रही है। अपनी प्रत्येक शक्तिपीठ, शाखाओं में भी योगाभ्यास एवं प्रशिक्षण का नियमित क्रम चलना चाहिए। इसके लिए प्रशिक्षक तैयार करने की दृष्टि से शांतिकुंज में विशेष सात दिवसीय शिविर आयोजित किये जा रहे हैं। जो भाई- बहिन इसमें भाग लेना चाहते हैं, वे अतिशीघ्र शांतिकुंज के शिविर विभाग को अपना आवेदन ई- मेल, व्हॉट्सएप, फोन, पत्र, फैक्स से भेज दें। प्रतिभागियों की आयु सीमा १८ से ५० वर्ष होनी चाहिए। अत्यधिक बीमार परिजन आवेदन न करें।

शिविर विभाग : ई- मेल : shivir@awgp.in,
फोन : ९२५८३६०६५५  व्हॉट्सएप : ९२५८३६९७४९

img

शांतिकुंंज में तीन दिवसीय गायत्री जयंती पर्वोत्सव का शुभारंभ २ से

हरिद्वार ३१ मई।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में गंगा दशहरा एवं गायत्री जयंती का तीन दिवसीय पर्वोत्सव २ जून से प्रारंभ होगा। साथ ही अखिल विश्व गायत्री परिवार अपने आराध्यदेव पं.श्रीराम शर्मा आचार्य जी की २७वीं पुण्यतिथि (गायत्री जयंती के दिन) भी.....

img

अनाथ आश्रमों में जाकर कराया योगाभ्यास

भुवनेश्वर : डॉ. विश्वरंजन रथ भुवनेश्वर में गायत्री परिवार के एक सक्रिय योग शिक्षक हैं । इन्होने गत दिनों भुवनेश्वर के विभिन्न अनाथ आश्रमों में जाकर बच्चों को योगाभ्यास कराया । इनका यह प्रयास अत्यंत सराहनीय है और अन्य योग शिक्षकों.....

img

योग एवं वैकल्पिक चिकित्सा शिविर - गायत्री शक्तिपीठ मुलताई

योग एवं वैकल्पिक चिकित्सा शिविर में बताये स्वस्थ रहने के गुर गायत्री शक्तिपीठ मुलताई में योग शिविर का हुआ शुभारंभ मुलताई- माँ ताप्ती तट स्थित गायत्री शक्तिपीठ मुलताई में रविवार प्रात: 6 बजे देव संस्कृति विश्वविद्यालय शान्तिकुंज हरिद्वार उत्तराखण्ड के.....