Published on 2016-12-19
img

योग एवं वैकल्पिक चिकित्सा शिविर में बताये स्वस्थ रहने के गुर गायत्री शक्तिपीठ मुलताई में योग शिविर का हुआ शुभारंभ मुलताई- माँ ताप्ती तट स्थित गायत्री शक्तिपीठ मुलताई में रविवार प्रात: 6 बजे देव संस्कृति विश्वविद्यालय शान्तिकुंज हरिद्वार उत्तराखण्ड के योग विशेषज्ञ रजनीश तिवारी पी.एच.डी.,पोस्टग्रेजुएट, सुदीप चौकसे एम.एस.सी.योग विज्ञान, प्राणिक हिलिंग,ऐक्यूप्रेशर,सूजोक एवं ज्ञानेन्द्र साहू की उपस्थित में योग शिविर का शुभारंभ देवपूजन दीपप्रज्जवलन कर किया गया।

प्रात:कालीन सत्र में नगर के योग साधकों ने बढ़चढ़ कर भाग लिया।

योग विशेषज्ञ रजनीश तिवारी ने योग के महत्व को बताते हुवे कहा कि योग-प्राणायाम,आसन द्वारा शरीर के जटील से जटील रोगों का उपचार हो जाता है। उन्होने बताया कि अपने शरीर की जीवन शक्ति को बढ़ाना ही नियमित योगाभ्यास है, उन्होने बताया कि संयम ही दवा है, संयमों के बिना स्वास्थ्य की कल्पना बेमानी है दवा की अपेक्षा हम संयम को अपना कर स्वस्थ्य बने। उन्होने पचंतत्वों द्वारा शरीर की चिकित्सा के बारे मेें भी विस्तार से बताया। उन्होने साधकों को बताया कि पॉच दिवसीय योग एवं वैकल्पिक चिकित्सा,एक्यूप्रेशर शिविर में शारीरिक, मानसिक एवं आध्यात्मिक ऊर्जा का लाभ ले सकते है।

योग शिविर के द्वितीय सत्र पूर्वान्ह 11 से सायं 4 बजे तक योग विशेषज्ञ रजनीश तिवारी एवं सुदीप चौकसे द्वारा मर्म चिकित्सा, मधुमेह एवं ऐक्यूप्रेशर पद्धति द्वारा चिकित्सा परामर्श देकर रोगोपचार किया गया। उन्होने बताया कि तृतीय सत्र सायंकाल 6 से 8 बजे तक होगा इसमें ध्यान की विभिन्न विद्याओं एवं चरणों का प्रयोग रोग निवारण हेतु कराया जावेगा। साथ ही सक्रिय ध्यान का अभ्यास कराया जावेगा। उन्होने प्रतिदिन लोगो से तीनों सत्र में भाग लेने का अनुरोध किया है।

सोमवार 19 दिसम्बर प्रथम सत्र प्रात: 6 से 8 बजे तक होगा। इसमें योगासन,प्राणायाम, द्वितीय सत्र पूर्वान्ह 11 से सायं 4 बजे तक होगा इसमें अर्थराइिटस, सर्वाइकल, सायटिका का रोगोपचार किया जायेगा एवं सायंकाल 6 से 8 बजे तक भावातीत ध्यान ।

20 दिस.मंगलवार प्रात: 6 से 8 बजे तक होगा इसमें योगासन,प्राणायाम, द्वितीय सत्र पूर्वान्ह 11 से सायं 4 बजे तक होगा इसमें कान,नाक,गला रोग व त्वचा विकार एवं सायंकाल निर्विचार ध्यान। 21 दिसम्बर बुधवार उच्च रक्त चाप एवं हृदय रोग, सायंकाल मौन साधना का अभ्यास।

22 दिसम्बर गुरुवार प्रथम सत्र प्रात: 6 से 8 बजे तक होगा। इसमें योगासन,प्राणायाम, द्वितीय सत्र पूर्वान्ह 11 से सायं 4 बजे तक होगा इसमें अनिद्रा व तनाव तथा अन्य रोगों की चिकित्सा की जावेगी।

पॉच दिवसीय योग एवं वैकल्पिक चिकित्सा,एक्यूप्रेशर एवं सायंकाल सत्र में ध्यान एवं सत्संग शिविर में भाग लेकर शिविर के लाभ लेवें।


Write Your Comments Here:


img

शांतिकुंंज में तीन दिवसीय गायत्री जयंती पर्वोत्सव का शुभारंभ २ से

हरिद्वार ३१ मई।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में गंगा दशहरा एवं गायत्री जयंती का तीन दिवसीय पर्वोत्सव २ जून से प्रारंभ होगा। साथ ही अखिल विश्व गायत्री परिवार अपने आराध्यदेव पं.श्रीराम शर्मा आचार्य जी की २७वीं पुण्यतिथि (गायत्री जयंती के दिन) भी.....

img

अनाथ आश्रमों में जाकर कराया योगाभ्यास

भुवनेश्वर : डॉ. विश्वरंजन रथ भुवनेश्वर में गायत्री परिवार के एक सक्रिय योग शिक्षक हैं । इन्होने गत दिनों भुवनेश्वर के विभिन्न अनाथ आश्रमों में जाकर बच्चों को योगाभ्यास कराया । इनका यह प्रयास अत्यंत सराहनीय है और अन्य योग शिक्षकों.....

img

योग प्रशिक्षक प्रशिक्षण शिविर

शिविर की तिथियाँ :१ से ७ नवम्बर २०१६, ५ से १२ दिसम्बर २०१६ और ५ से १२ जनवरी २०१७योग भारतीय संस्कृति का आधार है। यह व्यक्तित्व के समग्र (शारीरिक, मानसिक, आत्मिक) विकास का आधार है। नियमित योगाभ्यास से शरीर स्वस्थ.....