Published on 2000-00-00
img

२ एकड़ शासकीय भूमि पर रोपे ११०० पौधे
भूमि की फैंसिंग भी करायी

बलरामपुर (छत्तीसगढ़)
युवा प्रकोष्ठ शंकरगढ़ ने अपने वृक्षगंगा अभियान के अंतर्गत ग्राम जगिमा की खाली पड़ी दो एकड़ भूमि पर सामूहिक वृक्षारोपण अभियान चलाया। इसके अंतर्गत कुल ११०० पौधे रोपे गये। इसके लिए समाज का पूरा सहयोग मिला। आम, जामुन, नीम, पीपल जैसे पौधों की व्यवस्था स्थानीय स्तर पर लोगों ने की, वन विभाग ने सागौन आदि इमारती पेड़ों की पौध उपलब्ध करायीं। वरिष्ठ परिजन श्री बैजनाथ यादव के सहयोग से पूरे क्षेत्र की फैंसिंग की गयी। भविष्य में तहसील शंकरगढ़ से आने वाले मुख्य मार्ग के दोनों ओर वृक्षारोपण करने का संकल्प लिया गया।

मातर, खेड़ा (गुजरात) : खेड़ा जिला गायत्री परिवार और रामधुन मंडल नवागाम, मातर के प्रयासों से तहसील मातर के नवागाम नायका की पटेल वाड़ाी में २८ अगस्त को वृक्षारोपण का अत्यंत आस्थावर्धक कार्यक्रम आयोजित हुआ। लगभग ७० युवकों ने ग्राम के प्रतिष्ठित लोगों की उपस्थिति में वृक्षारोपण किया। इससे पूर्व रोपित किये जाने वाले सभी पौधों का विधि-विधान के साथ पूजन, वंदन किया गया। धार्मिक ग्रंथों में आये वर्णन के आधार पर वृक्षों के प्रति आस्था जगाते हुए उनके पालन, संरक्षण के संकल्प दिलाये गये।

टाटानगर (झारखंड) : गायत्री परिवार, टाटानगर के नवयुगदल २९ अगस्त को विश्व विकास विद्यालय मिरूडीह, गम्हारिया में १०१ वृक्ष की पौध लगायी। विद्यालय प्राचार्य एवं गायत्री परिवार के कार्यकर्त्ताओं के साथ स्कूल के बच्चों ने भी बड़े उत्साह के साथ पौधे लगाये। कई बच्चों ने इन्हें नियमित रूप से पानी देने के संकल्प भी लिये।



Write Your Comments Here:


img

शांतिकुंज में पर्यावरण दिवस पर हुए विविध कार्यक्रम

वृक्षारोपण वायु प्रदूषण से बचने का सर्वमान्य उपाय - श्रद्धेय डॉ. पण्ड्याजीसंस्था की अधिष्ठात्री ने नागकेशर के पौधा का किया पूजनसायंकालीन सभा में भारतीय संस्कृति व पर्यावरण संरक्षण के लिए हुए संकल्पितहरिद्वार 5 जून।अखिल विश्व गायत्री परिवार के मुख्यालय शांतिकुंज.....

img

चट्टानी जमीन पर रोपे ११०० पौधे

कठिन परिस्थितियाँ, पक्का इरादातरुपुत्र महायज्ञ संयोजक गायत्री परिवार के श्री मनोज तिवारी एवं श्री कीर्ति कुमार जैन ने बताया-चट्टानी जमीन पर वृक्षारोपण के लिए आठ दिन पहले से ही गड्ढे खोदे जा रहे थे।सिंचाई के लिए निकट ही ५०० बोरी.....

img

वृक्ष गंगा अभियान के तहत किया 5001पौधों का रोपण , शाजापुर ( मप्र )

कालापीपल मंडी।बचपन के पालने से लेकर अंत्येष्टी की लकड़ी तक वृक्षों से प्राप्त होती है। वृक्ष प्राणी जगत को आधार देते हैं। वे संसार का विष पीकर प्राण वायु प्रदान करते हैं। एक मनुष्य को संपूर्ण जीवन में जितनी ऑक्सीजन.....


Warning: Unknown: write failed: No space left on device (28) in Unknown on line 0

Warning: Unknown: Failed to write session data (files). Please verify that the current setting of session.save_path is correct (/var/lib/php/sessions) in Unknown on line 0