मुन्स्यारी-पिथौरागढ़ में विशेष साधना के लिए साधकों का दल रवाना

Published on 2016-10-01
img

डॉ. प्रणव पण्ड्याजी के निर्देशन में प्रारंभ हुआ विशेष अनुष्ठान
हरिद्वार, ०१ अक्टूबर।

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज से २४ साधकों का एक दल आज मुन्स्यारी जिला- पिथौरागढ़ के लिए रवाना हुआ। ये चयनित साधक  शांतिकुंज के निर्देशन में विकसित किये गये देवात्मा हिमालय के बीच बसे मुन्स्यारी के साधना केन्द्र में विशेष जप अनुष्ठान करेंगे।

साधकों को विदाई संदेश देते हुए गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्याजी  ने कहा कि आध्यात्मिक विकास के लिए नवरात्र का समय महत्त्वपूर्ण है। अपने अनुभवों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि देवात्मा हिमालय शक्ति का पुंज है और उसकी गोद में बैठकर साधना करने से अपने अंदर की शक्ति को जाग्रत करने में सहयोग मिलता है। हिमालय के पवित्र पंचाचुली क्षेत्र के निकट स्थित मुन्स्यारी में साधना अनुष्ठान करने से सुखद अनुभूति होती है।

नवरात्रि साधना में गायत्री परिवार के संस्थापक तपोनिष्ठ पं. श्रीराम शर्मा आचार्य जी द्वारा ‘साधना में सफलता’ से संबंधित वीडियो से मार्गदर्शन दिया जाएगा। वहीं साधकों के पंचकोशों के जागरण के लिए विशेष साधना प्रतिदिन प्रातः 5 बजे से करायी जाएगी। दोपहर को ज्योति अवधारण साधना तथा सायंकाल बांसुरी की धुन पर नादयोग साधना संपन्न होगी। साधकों के लिए सबसे महत्त्वपूर्ण इस साधना में वह समय खास होगा जब वे हिमालय के बीच से उगते सूर्य का विशेष ध्यान करेंगे।

यहाँ बताते चलें कि शांतिकुंज द्वारा निर्मित यह केन्द्र जहाँ साधकों के विशेष साधना अनुष्ठान के उद्देश्य से बनाया गया है, वहीं यहाँ निकटवर्ती कई गाँवों के बेरोजगारों युवक-युवतियों को कुटीर उद्योग का निःशुल्क प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। उच्च स्तरीय साधना के लिए जा रहे साधकों का यह पहला जत्था है।

img

युगावतार के लीला संदोह को समझें, युग देवता के साथ भागीदारी बढ़ायें

अग्रदूतों को खोजने, उभारने और सामर्थ्यवान बनाने का क्रम प्रखरतर बनायें

युगऋषि और प्रज्ञावतार
युगऋषि के माध्यम से नवयुग की ईश्वरीय योजना की जानकारी युगसाधकों को मिली। इस प्रचण्ड और व्यापक क्रांतिकारी परिवर्तन चक्र को घुमाने के लिए परमात्मसत्ता प्रज्ञावतार के रूप.....

img

अखण्ड ज्योति पाठक सम्मेलन, छत्तीसगढ़

मगरलोड, धमतरी। छत्तीसगढ़

जिला संगठन धमतरी ने मगरलोड में अखण्ड ज्योति पत्रिका के पाठकों का सम्मेलन आयोजित कर क्षेत्रीय मनीषा को परम पूज्य गुरुदेव के क्रांतिकारी विचारों से अवगत कराया। अखण्ड ज्योति के अनेक पाठकों ने आत्मानुभूतियाँ बतायीं। सम्मेलन से प्रभावित.....

img

वड़ोदरा में एक परिजन हर हफ्ते लगाती हैं युग साहित्य स्टॉल

वड़ोदरा : वड़ोदरा में एक गायत्री परिजन हर हफ्ते युग साहित्य स्टॉल लगाती हैं । उनके साहित्य स्टॉल से लोग पुस्तकें खरीदते हैं और जीवन के विभिन्न क्षेत्रों से सम्बंधित गुरुदेव का मार्गदर्शन प्राप्त करते हैं । परिजन का यह प्रयास.....