Published on 2016-12-23

वेदमाता गायत्री एजुकेशन ट्रस्ट द्वारा संचालित
• १२.५ बीघा जमीन
• ६६ बड़े- बड़े कमरे
• आध्यात्मिक वातावरण
• तीन बीघा में मनोरम उद्यान
• चार स्कूल : १. वी.डी. माहेश्वरी इण्टरनेशनल स्कूल (सीबीएसई मान्यता प्राप्त), २. चंद्रिकाबेन कल्पेशभाई पटेल देव संस्कृति विद्यालय (गुजराती माध्यम- कक्षा १ से ८), ३. शकरी बेन कांतिभाई पटेल प्री प्राइमरी स्कूल (सीबीएसई मान्यता प्राप्त) तथा ४. डाह्यीबेन रणछोड़भाई पटेल प्री प्राइमरी स्कूल (गुजराती माध्यम)

आदरणीय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी द्वारा संकुल का लोकार्पण, दानदाताओं का सम्मान
माणसा, गाँधीनगर (गुजरात)

गायत्री शक्तिपीठ माणसा द्वारा शिक्षा क्षेत्र में एक क्रांतिकारी पहल हुई। मिशन को अनन्य भाव से समर्पित कार्यकर्त्ताओं ने पहल की, नैष्ठिक प्रयासों को शानदार जनसहयोग मिला, परिणाम स्वरूप माणसा में एक विशाल शिक्षा संकुल बनकर तैयार हो गया है। आदरणीय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी ने २३ दिसम्बर को इस शिक्षा संकुल का लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने समस्त दानदाताओं को सम्मानित भी किया।

आदरणीय डॉ. साहब ने शक्तिपीठ के ट्रस्टियों, शिक्षा संकुल के संचालकों और ६ हजार श्रद्धालुओं की उपस्थिति में दीप प्रज्वलन करते हुए शिक्षा संकुल का लोकार्पण किया। शक्तिपीठ माणसा के प्रबंधन ट्रस्टी श्री पुंजाराम जी, अन्य अतिथि तथा दानदाता भी दीप प्रज्वलन- संकुल के लोकार्पण में सहयोगी बने। इस अवसर पर आदरणीय डॉ. साहब ने उपस्थित विशाल जनसमूह को संबोधित करते हुए शिक्षा क्रांति के माध्यम से संस्कारवान समाजनिष्ठ पीढ़ी के निर्माण के नैतिक दायित्वों पर खरे उतरने का आह्वान किया। उन्होंने त्याग की भावना और बेहतर समन्वय के आधार पर इस संकुल के विश्वविद्यालय तक के रूप में विकसित होने की शुभकामनाएँ भी प्रदान कीं।

इससे पूर्व संस्था के मेनेजिंग ट्रस्टी श्री अंबालाल एन. पटेल एवं प्रमुख दानदाताओं ने आदरणीय डॉ. साहब का भावभरा स्वागत किया। उन्होंने बताया कि गायत्री परिवार के प्रयासों से यह पूरे क्षेत्र में अंग्रेजी माध्यम का सबसे बड़ा शिक्षा संकुल बनने जा रहा है। देव संस्कृति विश्वविद्यालय की शिक्षा नीति के अनुरूप संस्कारवान, सेवाभावी, समाजनिष्ठ पीढ़ी राष्ट्र को समर्पित करना हमारा मुख्य ध्येय है। यहाँ नाममात्र की फीस पर विद्यार्थियों को शिक्षा दी जायेगी।

सचिव श्री कल्पेशभाई पटेल ने शिक्षा संकुल के प्रारूप की जानकारी दी। कार्यक्रम का समापन शक्तिपीठ के ट्रस्टी डॉ. भिखुभाई पटेल द्वारा आभार प्रदर्शन के साथ हुआ।


Write Your Comments Here:


img

युगावतार के लीला संदोह को समझें, युग देवता के साथ भागीदारी बढ़ायें

अग्रदूतों को खोजने, उभारने और सामर्थ्यवान बनाने का क्रम प्रखरतर बनायें

युगऋषि और प्रज्ञावतार
युगऋषि के माध्यम से नवयुग की ईश्वरीय योजना की जानकारी युगसाधकों को मिली। इस प्रचण्ड और व्यापक क्रांतिकारी परिवर्तन चक्र को घुमाने के लिए परमात्मसत्ता प्रज्ञावतार के रूप.....

img

अखण्ड ज्योति पाठक सम्मेलन, छत्तीसगढ़

मगरलोड, धमतरी। छत्तीसगढ़

जिला संगठन धमतरी ने मगरलोड में अखण्ड ज्योति पत्रिका के पाठकों का सम्मेलन आयोजित कर क्षेत्रीय मनीषा को परम पूज्य गुरुदेव के क्रांतिकारी विचारों से अवगत कराया। अखण्ड ज्योति के अनेक पाठकों ने आत्मानुभूतियाँ बतायीं। सम्मेलन से प्रभावित.....

img

वड़ोदरा में एक परिजन हर हफ्ते लगाती हैं युग साहित्य स्टॉल

वड़ोदरा : वड़ोदरा में एक गायत्री परिजन हर हफ्ते युग साहित्य स्टॉल लगाती हैं । उनके साहित्य स्टॉल से लोग पुस्तकें खरीदते हैं और जीवन के विभिन्न क्षेत्रों से सम्बंधित गुरुदेव का मार्गदर्शन प्राप्त करते हैं । परिजन का यह प्रयास.....