विदेशों में साधना- संस्कृति विस्तार के प्रगतिशील चरण

Published on 2017-02-01

गायत्री चेतना केन्द्र, लॉस एंजिल्स में मौन साधना सत्र

लॉस एंजिल्स (अमेरिका) : गायत्री चेतना केन्द्र लॉस एंजिल्स पर दिसम्बर- १६ में मौन साधना सत्र आयोजित हुआ। ३२ लोगों ने इसमें भाग लेते हुए अथाह शांति और संतोष की अनुभूति की। श्री महेश भट्ट के अनुसार साधकों की अनुभूति और उत्साह ने प्रत्येक चार माह में एक बार ऐसा शिविर आयोजित करने का उत्साह जगाया है।

मौन साधना शिविर में युवा और वरिष्ठ जनों में एक जैसा उत्साह दिखाई दिया। जप के अलावा प्रातः प्रज्ञायोग, यज्ञ, आरती, युगऋषि की अमृतवाणी, ध्यान साधना प्रयोग साधकों को मन और अंतःकरण की गहराइयों में ले जाते रहे।

देव संस्कृतिमय हुआ मिल्डुरा
मिल्डुरा, विक्टोरिया (ऑस्ट्रेलिया) : शांतिकुंज की बेटी डॉ. समता शर्मा एवं डॉ. रोहित शर्मा ने युगऋषि के चिंतन और अपने आचरण से मिल्डुरा में भारतीय समुदाय ही नहीं, अनेक देशों के लोगों में देसंविवि के प्रति आस्था जगायी है। उनके द्वारा गृहप्रवेश, संस्कार, नवान्न यज्ञ आदि के सामूहिक कार्यक्रम कराये जा रहे हैं।

मलेशिया में मना वार्षिकोत्सव
अखण्ड जप, यज्ञ, संस्कार हुए

कुआलालंपुर (मलेशिया) : श्री महा मारीअम्मा मंदिर, कुचिंग, मलेशिया में २५ और २६ दिसंबर २०१६ को २४ घंटे अखंड गायत्री मंत्र जप और यज्ञ- संस्कारों का कार्यक्रम आयोजित हुआ। यह पिछले पाँच वर्षों से मलेशिया में चल रही युग निर्माणी गतिविधियों का वार्षिकोत्सव था। इसमें यज्ञ एवं जन्मदिन, विवाहदिन, यज्ञोपवीत, विद्यारंभ संस्कार भी संपन्न हुए।

मलेशिया में रह रहे भारतीय परिजनों एवं मंदिर समिति के सदस्यों के लिए यह एक अद्भुत आयोजन था। वरिष्ठ कार्यकर्त्ता श्री कुमार संभव के अनुसार यज्ञ विज्ञान, संस्कार आदि की प्रेरणाओं को सुनकर लोग बहुत प्रभावित हुए। मंदिर के वाइस प्रेसिडेंट महोदय ने धर्मतंत्र से लोकशिक्षण की परम्परा को प्रोत्साहित करने के गायत्री परिवार के प्रयासों की सराहना की।

यह कार्यक्रम सिंगापुर और मलेशिया की शाखाओं के संयुक्त प्रयासों से सम्पन्न हुआ। सिंगापुर से आये श्री अजय जी की टोली ने यज्ञ- संस्कारों का गीत- संगीतयुक्त सुरुचिपूर्ण संचालन किया, वर्तमान संदर्भ में युगऋषि का संदेश दिया। मंदिर के पुजारी, अन्य धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधि सहित पचास से भी अधिक लोगों ने इसमें भाग लिया। इंजीनियर श्री अमरनाथ रेड्डी ने कार्यक्रम के प्रचार- प्रसार में विशेष योगदान दिया।

img

युगावतार के लीला संदोह को समझें, युग देवता के साथ भागीदारी बढ़ायें

अग्रदूतों को खोजने, उभारने और सामर्थ्यवान बनाने का क्रम प्रखरतर बनायें

युगऋषि और प्रज्ञावतार
युगऋषि के माध्यम से नवयुग की ईश्वरीय योजना की जानकारी युगसाधकों को मिली। इस प्रचण्ड और व्यापक क्रांतिकारी परिवर्तन चक्र को घुमाने के लिए परमात्मसत्ता प्रज्ञावतार के रूप.....

img

अखण्ड ज्योति पाठक सम्मेलन, छत्तीसगढ़

मगरलोड, धमतरी। छत्तीसगढ़

जिला संगठन धमतरी ने मगरलोड में अखण्ड ज्योति पत्रिका के पाठकों का सम्मेलन आयोजित कर क्षेत्रीय मनीषा को परम पूज्य गुरुदेव के क्रांतिकारी विचारों से अवगत कराया। अखण्ड ज्योति के अनेक पाठकों ने आत्मानुभूतियाँ बतायीं। सम्मेलन से प्रभावित.....

img

वड़ोदरा में एक परिजन हर हफ्ते लगाती हैं युग साहित्य स्टॉल

वड़ोदरा : वड़ोदरा में एक गायत्री परिजन हर हफ्ते युग साहित्य स्टॉल लगाती हैं । उनके साहित्य स्टॉल से लोग पुस्तकें खरीदते हैं और जीवन के विभिन्न क्षेत्रों से सम्बंधित गुरुदेव का मार्गदर्शन प्राप्त करते हैं । परिजन का यह प्रयास.....