एक महान यज्ञ अभियान की पूर्णाहुति

Published on 2017-02-05

• ६५ स्थानों पर हुए २४ कुण्डीय यज्ञ
• ७६१ लोगों ने दीक्षा ली
वाशी, मुम्बई (महाराष्ट्र)

गायत्री चेतना केन्द्र, वाशी द्वारा देश के मुबई महानगर में विगत दिसम्बर- जनवरी माह में गायत्री यज्ञ की सघन शृंखला चलायी गयी। दो माह में नगर के ६५ अलग- अलग स्थानों पर २४- २४ कुंडीय गायत्री यज्ञ कराये गये। इन यज्ञों के माध्यम से ७२१ दीक्षा संस्कार, १०७ पुंसवन संस्कार, ७९ नामकरण संस्कार, ६५ अन्नप्राशन संस्कार, २४१ विद्यारम्भ संस्कार आदि कुल १२४३ संस्कार संपन्न हुए। प्रत्येक कार्यक्रम में पुस्तक मेले लगाये गये। बड़ी संख्या में लोग अखण्ड ज्योति व अन्य पत्र पत्रिकाओं के नए सदस्य बने।

५ फरवरी को गायत्री गार्डन बदलापुर में संकल्प सिद्धि आहुति कार्यक्रम आयोजित कर इस महायज्ञ अभियान की सामूहिक पूर्णाहुति की गयी। कार्यक्रम सम्पन्न कराने शांतिकुंज से श्री शरद पारधी, अशोक ढोके एवं श्री योगीराज बल्कि की टोली पहुँची थी। मुम्बई के १५०० नैष्ठिक कार्यकर्त्ताओं के साथ पूरे महाराष्ट्र से आये १५० वरिष्ठ कार्यकर्त्ताओं ने इसमें भाग लिया।
समग्र अभियान में गायत्री चेतना केन्द्र सानपाड़ा के वरिष्ठ कार्यकर्त्ता श्री मनु भाई पटेल, प्रभारी श्री सी.एल. यादव एवं मुम्बई के सक्रिय कार्यकर्त्ताओं ने पूरी निष्ठा और तत्परता के साथ सहयोग किया।

आगरा (उत्तर प्रदेश)
नवनिर्मित गायत्री चेतना केन्द्र, जवाहर नगर खन्दारी आगरा मेंं २८ जनवरी से १ फरवरी तक पँच कुंडीय गायत्री यज्ञ व संस्कार एवं पावन प्रज्ञा पुराण की कथा का सफल आयोजन हुआ। इसमें ११ पुंसवन एवं २८ दीक्षा सहित विविध संस्कार हुए। लगभग सात सौ श्रद्धालुओं ने इसका लाभ लिया। कार्यक्रम का संचालन श्री जसवीर सिंह की टोली ने किया। इस कार्यक्रम के साथ वहाँ नियमित यज्ञ, संस्कारों का क्रम आरंभ हो गया।

जमशेदपुर (झारखंड)
बिरसानगर जमशेदपुर में आयोजित पँच कुंडीय यज्ञ का आरंभ ५०१ कलशों की विशाल शोभायात्रा के साथ हुआ। यज्ञ की महती सफलता में स्थानीय बहिनों ने बड़ी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई। यज्ञ के मुख्य अतिथि एक्सल इंडिया माडल स्कूल के निदेशक श्री उदय प्रकाश सिंह एवं टीनप्लेट कंपनी के पीआरओ थे। श्री रमाकांत प्रसाद ने यज्ञ- संस्कार तथा श्रीमती जसबीर कौर की टोली ने दीपयज्ञ का संचालन करते हुए युग संदेश दिया, सैकड़ों श्रद्धालुओं को सत्संकल्प दिलाये।

कन्या कौशल शिविर का योगदान
गायत्री चेतना केन्द्र वाशी द्वारा कुछ माह पूर्व बदलापुर में कन्या कौशल शिविर आयोजित किया था। इसमें प्रशिक्षित १००० कन्याओं में से ४९२ कन्याओं ने इस यज्ञ अभियान में सक्रिय सहयोग किया।

img

युगावतार के लीला संदोह को समझें, युग देवता के साथ भागीदारी बढ़ायें

अग्रदूतों को खोजने, उभारने और सामर्थ्यवान बनाने का क्रम प्रखरतर बनायें

युगऋषि और प्रज्ञावतार
युगऋषि के माध्यम से नवयुग की ईश्वरीय योजना की जानकारी युगसाधकों को मिली। इस प्रचण्ड और व्यापक क्रांतिकारी परिवर्तन चक्र को घुमाने के लिए परमात्मसत्ता प्रज्ञावतार के रूप.....

img

अखण्ड ज्योति पाठक सम्मेलन, छत्तीसगढ़

मगरलोड, धमतरी। छत्तीसगढ़

जिला संगठन धमतरी ने मगरलोड में अखण्ड ज्योति पत्रिका के पाठकों का सम्मेलन आयोजित कर क्षेत्रीय मनीषा को परम पूज्य गुरुदेव के क्रांतिकारी विचारों से अवगत कराया। अखण्ड ज्योति के अनेक पाठकों ने आत्मानुभूतियाँ बतायीं। सम्मेलन से प्रभावित.....

img

वड़ोदरा में एक परिजन हर हफ्ते लगाती हैं युग साहित्य स्टॉल

वड़ोदरा : वड़ोदरा में एक गायत्री परिजन हर हफ्ते युग साहित्य स्टॉल लगाती हैं । उनके साहित्य स्टॉल से लोग पुस्तकें खरीदते हैं और जीवन के विभिन्न क्षेत्रों से सम्बंधित गुरुदेव का मार्गदर्शन प्राप्त करते हैं । परिजन का यह प्रयास.....