गायत्री परिवार द्वारा हरिद्वार में विराट स्वच्छता अभियान

Published on 2017-05-02

हरिद्वार २ मई।

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज द्वारा तीर्थ नगरी हरिद्वार में विराट स्वच्छता अभियान चलाया गया। इस अभियान में गंगा की सफाई की गई जिसमें गीता कुटीर से ज्वालापुर तक गंगाजी के दोनों कीनारों के स्त्रभ् घाटों की सफाई की गई। इस सफाई अभियान में शांतिकुंज एवं ब्रह्मवर्चस् के सभी कार्यकर्त्ता भाई- बहिनों, देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के सभी प्राचायों एवं विद्यार्थियों, गायत्री विद्यापीठ के सभी विद्यार्थियों एवं अध्यापकों, विभिन्न शिविरों में प्रशिक्षण हेतु आए शिविरार्थियों एवं दर्शनार्थियों सहित शहर की विभिन्न संस्थाओं के २० हजार से अधिक लोगों ने आज हरिद्वार के स्त्रभ् से अधिक घाटों की एक समय एक साथ सफाई की।

गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी एवं शांतिकुंज के वरिष्ठ कार्यकर्त्ताओं ने सीसीआर के समीप बने पण्डाल पर पहुँचकर सबका उत्साह बढ़ाया। हरिद्वार के मेयर मनोज गर्ग भी सफाई स्थल पर पहुँचे। इस अवसर पर डॉ. प्रणव पण्ड्या जी ने विश्वास पूर्वक कहा कि कुंभ् तक निश्चय ही गंगा का जल आचमन लायक हो जाएगा। सरकारी और सहकार के प्रयास से हम गंगा को अविरल बन सकते हैं। उन्होंने गंगा में गिरने वाले गन्दे नालों को अविलम्ब रोकने पर बल दिया। साथ ही उन्होंने कड़े कानून बनाकर गंगा को प्रदूषित करने वाले को दोषी करार देने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सफाई का यह अभियान हमारे अन्दर भी क्रान्ति का रूप लेकर उभरना चाहिए। यह क्रान्ति ऐसी हो जिसमें अन्दर की बुराईयों के प्रति विद्रोह उठ खड़ा हो। उन्होंने कहा कि बाहर की सफाई स्वास्थ्य से सम्बन्ध रखती है। पर भीतर की सफाई जीवन को महान बनाने की ओर अभिमुख करती है, इसलिए बाहर के साथ- साथ भीतर की सफाई भी होनी चाहिए।

इससे पूर्व सप्तसरोपवर क्षेत्र में गंगा कीनारे सफाई अभियान चलाया गया जिसमें घाट क्रमांक १ से १९ तक सभी घाटों की सफाई की गई। यहाँ देवसंस्कृति विवि के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी पहुँचे और प्रतिभागियों का उत्साह बढ़ाते हुए कहा, स्वच्छता हमारे जीवन का पर्याय बन जानी चाहिए। हमारा चिन्तन चरित्र में भी स्वच्छता और पारदर्शिता आए, तो ही सफाई की सच्ची प्रेरणा ली गई।

तीर्थ नगरी हरिद्वार में हुई सफाई सेवा में गायत्री परिवार शान्तिकुंज, देव संस्कृति विश्वविद्यालय, गंगा सभा, हरिद्वार नागरिक मंच, उत्तराखण्ड संस्कृत विश्वविद्यालय से जुड़े समस्त महाविद्यालय, अग्रवाल सभा, वरिष्ठ नागरिक मंच, होटल एसोसिएसन, ब्राह्मण महासभा, अखिल भारतीय युवा तीर्थ पुरोहित महासभा, हरिद्वार गुज्जु (गुजराती समाज), सेवा भारती, बडोला वेलफेयर फाउंडेशन, स्पर्श गंगा, व्यापार मण्डल, भारत विकास परिषद, पेन्शनर्स वेलफेयर ओर्गनाईजेशन सहित अनेक संस्थाओं नें मिलकर हरिद्वार के ७० घाटों पर स्वच्छता श्रमदान किया। कार्यक्रम में अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्याजी, देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्याजी, पं. गोपाल बडोला, श्री जे. एल. पाहवा, शांतिकुंज व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्माजी, मेयर श्री मनोज गर्ग, श्री अविनाश ओहरी, जगदीश विरमानी सहित नगर के गणमान्य जन उपस्थित रहे।

गायत्री परिवार के निर्मल गंगा जन अभियान के अन्तर्गत गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या जी के आवाहन पर आज गंगा के दोनों तटों, यमुना, ताप्ती, नर्मदा, शिवना, डोही, इन्द्रेणी तथा बनास सहित २० से अधिक नदियों तथा अनेक जलाशयों एवं जलस्रोतों पर एक साथ एक समय पर २० लाख से अधिक स्वयंसेवकों ने स्वच्छता कार्य सम्पन्न किया।




img

निर्मल गंगा जन अभियान-“ सरगुजा (अंबिकापुर), छत्तीसगढ़ "

सरगुजा :  गंगा सप्तमी के पावन अवसर पर २ मई को पूरे भारतवर्ष में चलाये गए निर्मल गंगा जन अभियान के अंतर्गत अखिल विश्व गायत्री परिवार, सरगुजा (अंबिकापुर), छत्तीसगढ़ के परिजनों द्वारा प्रसिद्ध बांक नदी के तट एवं नदी में.....

img

एक राष्ट्रीय महापर्व : समग्र स्वच्छता कार्यक्रम ‘हर-हर गंगे’, २ मई २०१७

अखिल विश्व गायत्री परिवार द्वारा माँ गंगा की स्वच्छता एवं संरक्षण के निर्मल गंगा जन अभियान  चलाया जा रहा है । इसके अंतर्गत देश के विभिन्न स्थानों पर समग्र गंगा स्वच्छता का कार्यक्रम आगामी २ मई २०१७ को संपन्न होगा ।  इस.....

img

गंगा व पर्यावरण संरक्षण में गायत्री परिवार के साथ है सरकार, मुख्यमंत्री श्री रावतजी

हरिद्वार ३० मार्च।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावतजी ने उत्तराखण्ड के विकास में गायत्री परिवार से सहयोग के लिए शांतिकुंज पहुँचकर गायत्री परिवार प्रमुखद्वय डॉ. प्रणव पण्ड्याजी एवं संस्था की अधिष्ठात्री श्रद्धेया शैलदीदी जी से भेंट की। करीब ४० मिनट चली.....