img

शांतिकुंज से शुक्रवार को राहत सामग्री लेकर पाँच और दल रवाना हुए। नई टिहरी की ओर घनश्याम देवांगन, ऋषिकेश के लिए सूरत सिंह अमरुते, रुद्रप्रयाग में नरेन्द्र ठाकुर व मुनस्यारी हेतु जयसिंह के नेतृत्व में टोली को रवाना किया गया। वहीं सुखदेव अनघोरे की टोली देहरादून क्षेत्र में राहत सामग्री बाँटने हेतु गयी। टोली अपने साथ राशन किट, कम्बल, बर्तन किट, स्टोव, तिरपाल आदि लेकर गयीं। इस टीम में आपदा प्रबंधन से प्रशिक्षित से ११ सदस्य शामिल हैं। आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से इससे पूर्व ग्यारह राहत दल विभिन्न क्षेत्र भेजा जा चुका है। शुक्रवार को पाँच राहत टोली एक साथ अलग- अलग क्षेत्र के लिए रवाना हुई।

इस अवसर पर अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या ने कहा कि पीड़ितों की दुर्दशा का जो अनुमान लगाया जा रहा है, स्थिति उससे भी कई गुना अधिक विकट है। इसमें देशभर से आये हजारों तीर्थयात्रियों के साथ वहाँ के मूल निवासियों की जो जनहानि हुई है, उनकी सद्गति के लिए ईश्वर से प्रार्थना ही भी कर रहे हैं, पर वहाँ जो बचे हैं उन लोगों की जीवन रक्षा का संकट कम नहीं है। उत्तराखण्डवासियों की स्थायी मदद के लिए शान्तिकुञ्ज ने दूरगामी योजना बनाकर ठोस कदम उठाये हैं। उत्तराखंड के युवाओं के लिए कुटीर उद्योग का विशेष प्रशिक्षण भी चलाया जायेगा।

इससे पूर्व टोली को रवाना करते हुए शांतिकुंज व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्मा ने कहा कि शांतिकुंज मानवता व सदाशयता के साथ आपदा पीड़ितों की सेवा- सहायता कर रहा है। जहाँ जैसी जरूरत होगी, उस ढंग से संबंधित क्षेत्र में हमारे कार्यकत्र्ता जायेंगे एवं उनकी हर संभव सहयोग करेंगे।


Write Your Comments Here:


img

उत्तराखंड राहत कार्यों में हुए शहीदों को दी श्रद्धांजलि, परिवारी जनों को सहयोग - २० शहीदों के परिवारों को दिया गया २-२ लाख रुपये का अनुदान

सरदार पटेल की कर्मभूमि-बारडोली में हुतात्माओं का सम्मान२० शहीदों के परिवारों को दिया गया २-२ लाख रुपये का अनुदानहमारा समाज उन जाँबाज नौजवानों का सदा ऋणी रहेगा, जो अपने देश और देशवासियों की भलाई के लिए अपना सर्वोच्च त्याग-बलिदान करने.....

img

शांतिकुंज ने भेजा छठवाँ पुनर्वास राहत दल, तीन वाहन में 17 मकान बनाने हेतु सामग्री लेकर गया दल !

16-17 जून को केदारनाथ क्षेत्र में आई विनाशकारी आपदा में बेघर हुए चयनित लोगों को आवास मुहैया कराने में शांतिकुंज जुटा हुआ है। इसी कड़ी में शांतिकुंज से तीन वाहन में मकान बनाने के लिए लोहे एंगल, दरवाजे, खिड़की आदि.....