पीड़ित मानवता की सेवा में समर्पित गायत्री परिवार के करोड़ों स्वयंसेवकों ने मंगलवार को सायं एक साथ, एक ही समय में देवभूमि की त्रासदी में हताहत हुए लोगों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की।
    १६ जून को हिमालय क्षेत्र में हुई विनाशकारी त्रासदी से सारी दुनिया आहत है। इसमें दिवंगत हुए लोगों को श्रद्धांजलि देने के लिए शांतिकुंज के निर्देश पर गायत्री परिवार के देश-विदेश में फैले करोड़ों स्वयंसेवकों ने अपने-अपने क्षेत्र में सायं ६.३० से ७ बजे तक श्रद्धांजलि सभाओं का आयोजन किया। इस अवसर पर देश-विदेश में स्थापित ४५०० से अधिक प्रज्ञा संस्थानों में भाई-बहिनों ने सामूहिक रूप से प्रार्थनाएँ कीं। करोड़ों परिजन की सामूहिक प्रार्थना और जप से निश्चय उन दिवंगत आत्माओं को निश्चित ही सद्गति मिलेगी, ऐसा विश्वास इन प्रार्थना एवं श्रद्धांजलि सभाओं में किया गया।
    गायत्री परिवार के अंतर्राष्ट्रीय मुख्यालय शांतिकुंज के मुख्य सभागार में देवसंस्कृति विवि के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्या के नेतृत्व में श्रद्धांजलि सभा आयोजित हुई। सभा में रुद्राष्टक पाठ व अन्य वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ दिवंगत हुई आत्माओं की शांति एवं सद्गति हेतु प्रार्थनाएँ की गयीं। साथ ही आपदा से पीड़ित लोगों को इस आघात को सहने की और उससे शीघ्र उबरने की शक्ति मिले, पूर्ण स्वास्थ लाभ हो, भगवान शिव एवं भास्कर से ऐसी करबद्ध विनती की गयी। वहीं त्रिगुणीनारायण, गुप्तकाशी एवं आस-पास के गायत्री परिजनों ने भी अपने-अपने स्थान से केदारनाथ मंदिर की ओर हाथ जोड़कर सामूहिक प्रार्थना की।
    शांतिकुंज के वरिष्ठ कार्यकर्त्ता शरद पारधी ने बताया कि इस त्रासदी से उबरने हेतु केदारनाथ के अतिरिक्त अन्य ११ ज्योतिर्लिंगों में गायत्री परिजनों द्वारा भगवान महादेव की विशेष पूजा-अर्चना की गयी। इस अवसर पर शांतिकुंज के अंते:वासी कार्यकर्त्ता भाई-बहिन, ब्रह्मवर्चस शोध संस्थान के वैज्ञानिकगण, देवसंस्कृति विवि परिवार, गायत्री विद्यापीठ के विद्यार्थी एवं देश-विदेश से आये हजारों नर-नारी उपस्थित थे।





Write Your Comments Here:


img

उत्तराखंड राहत कार्यों में हुए शहीदों को दी श्रद्धांजलि, परिवारी जनों को सहयोग - २० शहीदों के परिवारों को दिया गया २-२ लाख रुपये का अनुदान

सरदार पटेल की कर्मभूमि-बारडोली में हुतात्माओं का सम्मान२० शहीदों के परिवारों को दिया गया २-२ लाख रुपये का अनुदानहमारा समाज उन जाँबाज नौजवानों का सदा ऋणी रहेगा, जो अपने देश और देशवासियों की भलाई के लिए अपना सर्वोच्च त्याग-बलिदान करने.....

img

शांतिकुंज ने भेजा छठवाँ पुनर्वास राहत दल, तीन वाहन में 17 मकान बनाने हेतु सामग्री लेकर गया दल !

16-17 जून को केदारनाथ क्षेत्र में आई विनाशकारी आपदा में बेघर हुए चयनित लोगों को आवास मुहैया कराने में शांतिकुंज जुटा हुआ है। इसी कड़ी में शांतिकुंज से तीन वाहन में मकान बनाने के लिए लोहे एंगल, दरवाजे, खिड़की आदि.....