देशभर के हजारों लोगों ने दी जलांजलि श्राद्धपक्ष पितरों के लिए समर्पित होता है। माना जाता है कि पितर पक्ष में पितृगण अपनी पीढ़ियों से श्रद्धा की अपेक्षा लिये धरती में विराजते हैं। इसलिए इस दौरान विशेष रूप से श्राद्ध कर्म किया जाता है। देश भर में फैले गायत्री परिवार के कार्यकर्ताओं ने शांतिकुंज के निर्देशन में यह श्राद्ध संस्कार सम्पन्न किया। गायत्री परिवार मुख्यालय शांतिकुंज स्थित संस्कार प्रकोष्ठ के प्रभारी पं० शिवप्रसाद मिश्र ने बताया कि उत्तराखंड त्रासदी में हताहत हुए लोगों का सामूहिक श्राद्ध किया गया। जिसमें शांतिकुंज के अंतेरूवासी कार्यकत्र्ता- भाई, देवसंस्कृति विश्वविद्यालय परिवार, ब्रह्मवर्चस शोध संस्थान के वैज्ञानिक, डॉक्टर्स सहित देश के कोने- कोने से आये हजारों लोग शामिल हुए। उन्होंने बताया कि पखवाड़े भर चले श्राद्ध कर्म संस्कार में करीब 21200 लोगों ने अपने पितरों एवं उत्तराखंड त्रासदी के हताहत हुए लोगों को श्रद्धांजलि एवं जलांजलि अर्पित की। उन्होंने बताया कि जैमिनी, व्यास व वशिष्ट टीन शैड में प्रतिदिन विभिन्न पारियों में संस्कार सम्पन्न कराये गये। उन्होंने बताया कि अपने पितरों की याद में लोगों ने एक- एक पौधा लगाने एवं उसे संरक्षित करने का संकल्प लिया। उन सभी को उद्यान विभाग की ओर से पौधे निःशुल्क दिये गये। 05 अक्टूबर से प्रारंभ हो रहे नवरात्र अनुष्ठान में अनेक साधक सामूहिक रूप से अनुष्ठान के संकल्प सूत्र में बंधे। समस्त साधक 9 दिन तक एक निर्धारित संख्या में गायत्री मंत्र जप के साथ विश्व में शांति व्यवस्था बनाने हेतु यज्ञानुष्ठान में भागीदारी करेंगे। साधकों को अनुष्ठान का संकल्प कराते हुए पं० शिवप्रसाद मिश्र ने कहा कि शारदीय नवरात्र दो ऋतुओं के संगम के अवसर पर होता है। इस समय वातावरण में प्रकृति एवं शरीर में विशेष रूप से परिवर्तन होता है। उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जप, ध्यान, उपवास से शारीरिक, मानसिक एवं आत्मिक शक्तियों में स्वभाविक रूप से वृद्धि होती है। फिर उसके साथ यदि उन्हें उपयुक्त वातावरण व मार्गदर्शन मिल जाय, तो साधक को निश्चित रूप से कई उपलब्धियाँ प्राप्त होती हैं। इस अवसर पर शांतिकुंज कार्यकर्ता भाई- बहिन, देसंविवि परिवार के अलावा विभिन्न राज्यों से हजारों साधक उपस्थित थे।


Write Your Comments Here:


img

उत्तराखंड राहत कार्यों में हुए शहीदों को दी श्रद्धांजलि, परिवारी जनों को सहयोग - २० शहीदों के परिवारों को दिया गया २-२ लाख रुपये का अनुदान

सरदार पटेल की कर्मभूमि-बारडोली में हुतात्माओं का सम्मान२० शहीदों के परिवारों को दिया गया २-२ लाख रुपये का अनुदानहमारा समाज उन जाँबाज नौजवानों का सदा ऋणी रहेगा, जो अपने देश और देशवासियों की भलाई के लिए अपना सर्वोच्च त्याग-बलिदान करने.....

img

शांतिकुंज ने भेजा छठवाँ पुनर्वास राहत दल, तीन वाहन में 17 मकान बनाने हेतु सामग्री लेकर गया दल !

16-17 जून को केदारनाथ क्षेत्र में आई विनाशकारी आपदा में बेघर हुए चयनित लोगों को आवास मुहैया कराने में शांतिकुंज जुटा हुआ है। इसी कड़ी में शांतिकुंज से तीन वाहन में मकान बनाने के लिए लोहे एंगल, दरवाजे, खिड़की आदि.....