Published on 2017-12-18

 हरकी पैड़ी से लेकर ललतारौ पुल तक चलायेंगे अभियानजनजागरण रैली से गंगा व शहर को स्वच्छ बनाये रखने हेतु करेंगे जागरूकगायत्री तीर्थ शांतिकुंज, देवसंस्कृति विश्वविद्यालय, गायत्री विद्यापीठ के साथ-साथ हरिद्वार के निकटस्थ जनपदों के हजारों लोग गंगा मैय्या की गोद में उतरेंगे। ये स्वयंसेवक हरिद्वार के हृदय स्थल कहे जाने वाले हरकी पैड़ी से लेकर ललतारौ पुल तक को सात सेक्टरों में बाँटकर गंगा मैय्या में जगह-जगह बिखरा कूड़ा-करकट निकालकर उसे स्वच्छ करने के लिए अपना पसीना बहायेंगे।उक्त जानकारी शांतिकुंज के व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्मा ने दी। उन्होंने बताया कि हरिद्वार में गंगा क्लोजर के समय गायत्री साधक अपना एक दिन का समय गंगा मैय्या की सेवा में लगाते रहे हैं। इस वर्ष भी 20 अक्टूबर को शांतिकुंज के अंतेरूवासी कार्यकत्र्ता-बहिन, देवसंस्कृति विवि के प्रोफेसर्स, विद्यार्थी एवं स्टाफ, ब्रह्मवर्चस शोध संस्थान के वैज्ञानिक एवं चिकित्सक, गायत्री विद्यापीठ के शिक्षक-विद्यार्थी एवं विभिन्न प्रशिक्षण सत्रों में आये भाई-बहिन सफाई कार्य करेंगे। उनके अलावा बिजनौर, बुलन्दशहर, मेरठ, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, देहरादून आदि जनपदों से गायत्री परिजन हजारों की संख्या में आयेंगे और विराट स्वच्छता अभियान के तहत गंगा मैया की गोद में उतरेंगे। उन्होंने बताया कि स्वच्छता अभियान की शुरुआत प्रातरू ८ बजे होगी और श्रमदान के पश्चात गंगा मैय्या व शहर को स्वच्छ बनाये रखने में सहयोग करने हेतु अपील करती हुई जन जागरण रैली निकाली जायेंगी, जो रोड़ीबेलबाला से प्रारंभ होकर भल्ला कॉलेज परिसर में पहुँचकर समाप्त होगी।


Write Your Comments Here:


img

विभिन्न संगठनों के साथ मिलकर गायत्री परिवार ने चलाया ‘ताप्ती शुद्धि अभियान’

बुरहानपुर : बुरहानपुर में गायत्री परिवार ने विभिन्न संगठनों के साथ मिलकर ताप्ती अंचल शुद्धि अभियान चलाया । इस अभियान में पतंजलि योग पीठ के साथ विभिन्न सामाजिक संगठनों ने हिस्सा लिया । कार्यक्रम में जिला कलेक्टर श्री दीपक सिंह, नगर.....

img

जल स्त्रोत शुद्धीकरण एवं स्वछता अभियान – गोरेगाँव (जि. गोंदिया,महा.)

गोरेगाँव : अखिल विश्व गायत्री परिवार द्वारा चलाए जा रहे 7 सूत्रीय आंदोलन के राष्ट्रीय सम्मेलन (अक्टूबर २०१६ – हरिद्वार) में गायत्री परिवार गोरेगाँव (जि.गोंदिया,महा.) एवं दिया युवा संघटना के साथियों ने भी संकल्प लिया था। इसी के तहत स्वच्छता एवं जल स्त्रोत शुद्धिकरण.....