img

तिरपाल के सहारे रात्रि बिता रहे पीड़ितों को मिलेगी राहत : डॉ. पण्ड्याशांतिकुंज केदारनाथ त्रासदी से पीड़ित लोगों को दे रहा आशियानाबीते १६-१७ जून को केदारनाथ में आई विनाशकारी त्रासदी ने पहाड़ के जन जीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया है। त्रासदी से प्रभावित अनेक गाँवों के लोग अब भी तिरपाल के सहारे रात्रि गुजार रहे हैं। उनकी इस पीड़ा को कम करने के उद्देश्य से शांतिकुंज ने उन्हें मकान देने की घोषणा की थी। उसी वादा को पूरा करने के लिए शांतिकुंज से टाटा-७०९ वाहनों का काफिला प्री-फ्रेब्रीकेटेट मकान बनाने के लिए समान लेकर रवाना हुआ। राहत दल को आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ प्रभारी व व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्मा ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। राहत दल को मंगल तिलक कर विदाई करते हुए अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ प्रणव पण्ड्या ने कहा कि युगऋषि पं.श्रीराम शर्मा आचार्य जी ने एक राष्ट्र-परिवार का संकल्प साकार करने के लिए विचार क्रांति अभियान चलाया है। जाग्रत् संवेदना ही इसका प्रमुख आधार हैं। इस परिकल्पना को साकार करने के लिए अपनी साधन-सम्पदा को समाज की धरोहर मानकर उसे समाज के हित में लगाने की आवश्यकता है। गायत्री परिवार अपने आपदा राहत अभियान के माध्यम से यह धर्म बखूबी निभा रहा है। उन्होंने कहा कि बढ़ती ठंड को ध्यान रखते हुए पीड़ितों हेतु मकान बनाने का कार्य तेजी से किया जायेगा। व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्मा ने कहा कि ठंड की ठिठुरन से निजात दिलाने के लिए पीड़ितों हेतु मकान बनवाया जा रहा है। आज रवाना हुआ यह दल चमोली जनपद के जेटीमल्ली गांव के चयनित दर्जन भर से अधिक परिवारों हेतु घर बनायेगा। उन्होंने बताया कि इस हेतु शांतिकुंज से इंजीनियर अजय शर्मा के नेतृत्व में १२ सदस्यीय एक दल भेजा गया है। व्यवस्थापक श्री शर्मा ने बताया कि केदारनाथ व लिंचोली गाँव में नि:शुल्क दो भोजनालय चलाया जा रहा है। जहाँ नित्य ५०० से अधिक श्रद्धालु, ग्रामीण एवं यात्रियों की देखरेख में तैनात अधिकारी भोजन-प्रसाद लेते हैं। यह भोजनालय दीवाली बाद तक चलाये जायेंगे। निर्माण विभाग के इंजीनियर गौरीशंकर सैनी के अनुसार पीड़ितों के मकान मजबूत बनें, इस उद्देश्य से शांतिकुंज वर्कशाप में ही स्ट्रक्चर (१८गुणा२२ फीट), पिलर आदि तैयार किये गये हैं। इसे गांव में फाउण्डेशन तैयार कर उन पर लगाया जायेगा। उन्होंने बताया कि इसके अलावा सारीग्वाड, नागढाड़ा आदि गाँवों के चयनित लोगों के लिए भी मकान बनाने की प्रक्रिया जारी है। इस अवसर पर राकेश जायसवाल, जमुना विश्वकर्मा, सुधीर भारद्वाज, खिलावन आदि उपस्थित थे। वहीं दूसरी ओर उड़ीसा के चक्रवाती तूफान फेलिन से प्रभावित जनपदों में शांतिकुंज के निर्देशन में राहत कार्य तेजी से चलाया जा रहा है। गंजाम, भद्रक, बालेश्वर, जगतसिंहपुर आदि जनपद के सैकड़ों गाँवों में राहत दल आवास और भोजन की व्यवस्था करने में जुटा है। दल पीड़ितों को खाना, कपड़े, कम्बल व अन्य आवश्यक सामग्रियाँ उपलब्ध करा रहा है। शांतिकुंज के ओडिशा जोन प्रभारी श्री गंगाधर चौधरी के नेतृत्व में राहत कार्य चल रहा है।  


Write Your Comments Here:


img

उत्तराखंड राहत कार्यों में हुए शहीदों को दी श्रद्धांजलि, परिवारी जनों को सहयोग - २० शहीदों के परिवारों को दिया गया २-२ लाख रुपये का अनुदान

सरदार पटेल की कर्मभूमि-बारडोली में हुतात्माओं का सम्मान२० शहीदों के परिवारों को दिया गया २-२ लाख रुपये का अनुदानहमारा समाज उन जाँबाज नौजवानों का सदा ऋणी रहेगा, जो अपने देश और देशवासियों की भलाई के लिए अपना सर्वोच्च त्याग-बलिदान करने.....

img

शांतिकुंज ने भेजा छठवाँ पुनर्वास राहत दल, तीन वाहन में 17 मकान बनाने हेतु सामग्री लेकर गया दल !

16-17 जून को केदारनाथ क्षेत्र में आई विनाशकारी आपदा में बेघर हुए चयनित लोगों को आवास मुहैया कराने में शांतिकुंज जुटा हुआ है। इसी कड़ी में शांतिकुंज से तीन वाहन में मकान बनाने के लिए लोहे एंगल, दरवाजे, खिड़की आदि.....