रियर एडमिरल पाण्डेय की पुत्री का आदर्श विवाह शांतिकुंज में

Published on 2017-12-27
img

दुनिया की चकाचौंध से दूर एक ऐसा संस्थान जहाँ बिना किसी भेदभाव के मानव मात्र के उत्थान के लिए कार्य किया जाता है। यह जानकार मेरा मन बरबस इसे देखने को हुआ। २४ दिसम्बर को एक यात्रा के दौरान सेना कैम्प रायवाला आना हुआ। उस समय मुझे अपने सहयोगियों के साथ शांतिकुंज देखने-समझने का मौका मिला। तब से यहाँ मेरी पुत्री का विवाह संस्कार कराने का मन बनाया था, फिर लड़के के परिवार ने इसमें सहमति देकर मेरी मुराद पूरी कर दी।          यह कहना है नेवल हेड क्वाटर नई दिल्ली में पदस्थ रियर एडमिरल किशन पाण्डेय का। श्री पाण्डेय अपनी सुपुत्री आकृति का विवाह संस्कार देहरादून निवासी शिक्षाविद एआर सिंह के पुत्र लेफ्टिनेंट कमांडर मयंक सिंह के साथ कराने गायत्री तीर्थ शांतिकुंज आये थे। वे कहते हैं शादियाँ तो कई देखी हैं, पर यहाँ जिस तरह वैदिक रीति से सम्पन्न की गयी, वास्तव में यही विवाह संस्कार है। एक दूसरे का हाथ थामकर जीवन के अगले पड़ाव में जाने से पूर्व दाम्पत्य जीवन की सूत्र समझ लेने से भविष्य सुखद हो जाता है। संस्था की अधिष्ठात्री शैल दीदी ने कहा कि नवदम्पती के उज्ज्वल भविष्य की मंगल कामना करते हुए उन्हें सफल दाम्पत्य जीवन के विभिन्न सूत्रों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि दाम्पत्य जीवन में प्रवेश के साथ सप्तपदी के सात सूत्रों को हृदयंगम करना पड़ता है। उसके आदर्शों और सिद्धान्तों को जीवन में अपनाया लिया जाए, तो दाम्पत्य जीवन की सफलता में कोई सन्देह ही नहीं रह जाता। इस अवसर पर परिवारीजनों के अलावा पं शिवप्रसाद मिश्र, कर्नल उदय मिश्रा व सेना के अधिकारीगण आदि उपस्थित थे। सभी ने विवाह संस्कार की व्याख्या से अपने दाम्पत्य जीवन में व्यवस्थित रूप से चलाने के सूत्रों को जाना।

img

व्यसनों को लेकर युवाओं को किया जागरूक

एटा: युवाओं को व्यसन मुक्ति को प्रेरित करने के लिए शहर में आई युवा क्रांति रथ युवा भारत यात्रा का शहर में जोरदार स्वागत हुआ। यात्रा में आए गायत्री परिवार शांतिकुंज के प्रतिनिधियों ने कहा कि जब देश की युवा.....

img

शराबमुक्त स्वर्णिम मध्य प्रदेश अभियान

प्रदेश स्थापना दिवस पर आयोजित हुए कार्यक्रमों में बुलंद हुए शराबमुक्ति के स्वर
बालाघाट। मध्य प्रदेश

दुर्गा मंदिर, गाँधी चौक, बालाघाट पर मध्य प्रदेश स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में अत्यंत आकर्षक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। गायत्री परिवार के परिजनों द्वारा सायं.....