img

शिक्षण संस्थानों में प्रचारकों का शिविर
दिनांक १ से ३ जून २०१४

मिशन की विचारधारा को शिक्षण संस्थानों में पहुँचाने के लिए विशेष प्रयासों की आवश्यकता है। इसे ध्यान में रखते हुए गायत्री तपोभूमि मथुरा में यह शिविर आयोजित किया जा रहा है। इस शिवर में वे परिजन आयें, जो शिक्षक हैं अथवा विद्यालयों में जाकर मिशन के प्रचार कार्य में रुचि रखते हैं। 

माता सरस्वती शिविर (विद्यार्थियों के लिए)

३० मई से ५ जून (लड़कियों के लिए), १४ से २० जून (लड़कों के लिए)

गायत्री तपोभूमि में गतवर्ष की भाँति इस वर्ष भी माता सरस्वती शिविर आयोजित हो रहे हैं। इनमें विद्यार्थियों को व्यक्तित्व विकास, योगासन-प्राणायाम, प्रतिभा संवर्धन, स्वास्थ्य संवर्धन, अध्ययन की कला, स्मरण शक्ति बढ़ाने की विधि आदि सीखने का अवसर मिलेगा, ताकि विभिन्न परीक्षा-प्रतियोगिताओं में वे अच्छी सफलता पा सकें। 
  •  लड़के-लड़कियाँ अपने अभिभावकों के साथ आयें। अभिभावक शिविर के दिनों में साधना-स्वाध्याय कर सकते हैं। बड़े छात्र-छात्रा अकेले या ग्रुप में आ सकते हैं।  
  • अपने साथ नोटबुक, पेन, दो छोटी चादर, मंजन, कंघा, तेल, साबुन आदि लेकर आयें। भोजन-आवास की सुविधा निःशुल्क है।  
  • योगासन की सुविधा के लिए लड़के ढ़ीले पाजामा-कुर्ता, पेंट-शर्ट और लड़कियाँ सलवार-कुर्ता लेकर आयें।  
  • शिविर आरंभ होने के एक दिन पहले शाम तक पहुँच जायें। शिविर के दिनों घूमने-फिरने की सुविधा नहीं होगी। इसके लिए बाद में एक दिन रुक सकते हैं। 
संपर्क सूत्र : फोन- ०५६५-२५३०१२८, २५३०३९९ 
मोबाइल-०९९२७०८६२८७, ०९९२७०८६२८९, फैक्स-०५६५-२५३०२०० 
Email : yugnirman@awgp.org


Write Your Comments Here:


img

भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा का रजत जयंती वर्ष

नई पीढ़ी को संस्कृतिनिष्ठ-व्यसनमुक्त बनाने हेतु ठोस प्रयास होंसोद्देश्य प्रारंभ और प्रगतिभारतीय संस्कृति को दुनियाँ भर के श्रेष्ठ विचारकों ने अति पुरातन और महान माना है। ऋषियों की दृष्टि हमेशा से विश्व बंधुत्व की रही है। इसी लिए इस संस्कृति.....

img

२०० लिथुआनियाई करते हैं नियमित यज्ञ

११ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ की संभावनाएँ बनीं, शाखा भी स्थापित होगी

लिथुआनिया आयुर्वेद अकादमी द्वारा प्रज्ञायोग, यज्ञ जैसे विषयों पर लिथुआनिया आयुर्वेद अकादमी द्वारा एक बृहद् वार्ता रखी गयी थी। लगभग १५० लोगों ने इसमें भाग लिया। डॉ. चिन्मय जी ने.....

img

इंडोनेशिया और देव संस्कृति विश्वविद्यालय के बीच शिक्षा एवं सांस्कृतिक क्षेत्रों में सहयोग के लिए हुआ अनुबंध

इंडोनेशिया के धार्मिक मंत्रालय के हिन्दू निदेशालय ने भारतीय संस्कृति एवं वैदिक परम्पराओं के अध्ययन-अध्यापन हेतु देव संस्कृति विश्वविद्यालय के साथ अनुबंध किया है। देसंविवि प्रवास पर आये इंडोनेशियाई मंत्रालय के निदेशक श्री कटुत विद्वन्य और देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ......