विद्यालयों में पुस्तक मेले का हर क्षेत्र में बढ़ रहा है आकर्षण

Published on 2017-12-27
img


वडोदरा (गुजरात)
श्री गायत्री प्रज्ञापीठ कारेलीबाग वडोदरा नगर व आसपास के विद्यालयों में सुनियोजित पुस्तक मेलों का आयोजन करते हुए हजारों विद्यार्थियों तक युग निर्माणी विचारधारा को पहुँचा रहा है। पिछले एक माह में गुजराती-अंग्रेजी माध्यम के १२ विद्यालयों में ऐसे पुस्तक मेलों का आयोजन करते हुए १३००० से अधिक विद्यार्थियों तक गुरुदेव का साहित्य पहुँचा चुका है।

शिक्षक-बच्चों को साहित्य की विशेषताओं के बारे में पहले से जानकारी देना और हम विद्यार्थी कोई न कोई पुस्तक अवश्य लेकर जाये, ऐसे प्रयास करना पुस्तक मेलों की विशेषता है। आयोजक विद्यालय से एक सप्ताह पहले से ही संपर्क-परिचय का क्रम आरंभ हो जाता है। इसके लिए विशेष टोली का गठन किया गया है। गुरुदेव वेधशाला के संचालक श्री दिव्यदर्शन पुरोहित के पूरे परिवार के अलावा अच्छा मैनेजमेण्ट करने वाले, बाल मनोविज्ञान समझने वाले, बुद्धिजीवी और प्रवासी भारतीय भाई-बहिन इसमें शामिल हैं। यह टोली बच्चों की रुचि को परखते हुए उन्हें इस प्रकार समझाती है जिससे पुस्तक की उपयोगिता उसे अच्छी तरह समझ में आ जाये। 

पुस्तक मेलों की लोकप्रियता में मीडिया का भी बड़ा योगदान है। युगसाहित्य के प्रति बच्चों के विचार प्रकाशित कर वे अन्यों को भी इसके प्रति आकर्षित कर रहे हैं। 


कुरुक्षेत्र (हरियाणा)
जोनल केन्द्र कुरुक्षेत्र द्वारा २५ जुलाई से विद्यालयों में पुस्तक मेलों की शृंखला आरंभ की गयी। श्री मंजीत शर्मा के अनुसार ३१ अगस्त तक १३ विद्यालयों में पुस्तक मेले लगाये गये, जिन्होंने ६०,००० रुपये का साहित्य विद्यार्थियों तक पहुँचाया। 

आयोजकों का मानना है कि विद्यार्थी अपने विकास के लिए जागरूक हैं, लेकिन सत्साहित्य तक सहज पहुँच नहीं होने के कारण वे इससे वंचित रह जाते हैं। सस्ता और अच्छा होने के कारण गुरुदेव का साहित्य बच्चों को नयी दिशाएँ प्रदान कर रहा है। 

जोनल समन्वयक श्री जे.एस. कुशवाहा के अनुसार शृंखला लम्बी चलेगी। अगले २५ विद्यालयों की तिथियाँ निर्धारित कर ली गयी थीं। इन्हें पूरे जिले में विस्तार देने के प्रयास किये जा रहे हैं। 

  वाराणसी (उत्तर प्रदेश)ः गायत्री परिवार ट्रस्ट काशी द्वारा १४ से २९ अगस्त के बीच तीन विद्यालयों में चार दिवसीय पुस्तक मेले लगाये गये। हरमन माइनर इंटर कॉलेज चौबेपुर, सनातन धर्म इ.कॉलेज नई सड़क, निवेदिता शिक्षा सदन बालिका इ. कॉलेज तुलसीपुर में ये पुस्तक मेले लगाये गये। इनके उद्घाटन समारोहों में कहीं गुरुदेव के विचार सराहे गये तो कहीं समाज के नवनिर्माण में भागीदारी के संकल्प उभरे। 


img

२०० लिथुआनियाई करते हैं नियमित यज्ञ

११ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ की संभावनाएँ बनीं, शाखा भी स्थापित होगी

लिथुआनिया आयुर्वेद अकादमी द्वारा प्रज्ञायोग, यज्ञ जैसे विषयों पर लिथुआनिया आयुर्वेद अकादमी द्वारा एक बृहद् वार्ता रखी गयी थी। लगभग १५० लोगों ने इसमें भाग लिया। डॉ. चिन्मय जी ने.....

img

इंडोनेशिया और देव संस्कृति विश्वविद्यालय के बीच शिक्षा एवं सांस्कृतिक क्षेत्रों में सहयोग के लिए हुआ अनुबंध

इंडोनेशिया के धार्मिक मंत्रालय के हिन्दू निदेशालय ने भारतीय संस्कृति एवं वैदिक परम्पराओं के अध्ययन-अध्यापन हेतु देव संस्कृति विश्वविद्यालय के साथ अनुबंध किया है। देसंविवि प्रवास पर आये इंडोनेशियाई मंत्रालय के निदेशक श्री कटुत विद्वन्य और देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ......

img

बच्चों के मन मे सद्विचारों की प्रतिष्ठा कर रहे हैं पुस्तक मेले

पटियाला। पंजाब गायत्री परिवार पटियाला ने ७ जून को डीएवी पब्लिक स्कूल पत्रान में युग निर्माणी पुस्तक मेले का आयोजन किया। पुस्तक और उनके महान लेखक के विषय में जानकर वहाँ के आचार्य और विद्यार्थी सभी अभिभूत थे। नैष्ठिक परिजन सुश्री.....