Published on 2015-05-03

कहते हैं चिकित्सक दूसरा भगवान होते हैं। वे अपनी सेवा से पीड़ितों का दुःख दूर करते हैं। नेपाल में आए विनाशकारी भूकंप के बाद मुंबई, अहमदाबाद का 18 सदस्यीय चिकित्सक दल गायत्री परिवार के आपदा राहत दल के साथ मिलकर सेवा कार्य में जुटा है। यह दल नेपाल के सुदूर सिंधु और पालचौक जिले के लामो साघोजलबीरे कस्बे में सतत सक्रिय है। दल के वरिष्ठ सदस्य डॉ भीखूभाई पटेल के अनुसार इस दल में 1 सर्जन, 2 ऑर्थोपेडिक सर्जन, सात फिजिसियन्स, नाक, कान और गला एवं बालरोग विशेषज्ञ एक- एक तथा अन्य पैरामेडिकल सदस्य शामिल हैं।

 
शांतिकुंज आपदा प्रबंधन के दल के अनुसार मेडिकल टीम प्रतिदिन विभिन्न कस्बों, गांवों में जा- जाकर पीड़ितों के उपचार कार्य में जुटी हुई है। इस दल के माध्यम से प्रति दिन सैकड़ों रोगियों का उपचार किया जा रहा है। प्लास्टर एवं सूक्ष्म आपरेशन जैसे उपचार कार्य बखूबी किये जा रहे हैं।
नेपाल के समाजसेवी एवं लेखक डॉ राजू अधिकारी ने शांतिकुंज आपदा प्रबंधन दल से मिले मदद की सराहना करते हुए कहा कि दल की विशेषता, कौशल एवं अपनापन से हम लोगों को इस पीड़ा से निपटने में बड़ी मदद मिल रही है। डॉ अधिकारी ने कहा कि नेपाल की मां गंगे कही जाने वाली बाग्मती स्वच्छता अभियान में भी गायत्री परिवार ने पिछले दो वर्षो से सतत सक्रियता निभाई है।   



Write Your Comments Here:


img

गुजरात और राजस्थान के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में अहर्निश सक्रिय है गायत्री परिवार का आपदा प्रबंधन दल

गुजरात- राजस्थान में  बाढ़ राहत कार्य- सहयोग में पीछे न रहें 
इन दिनों गुजरात और राजस्थान में आयी भीषण बाढ़ की भयावहता सर्वविदित है। गुजरात का बनासकाँठा और राजस्थान के जालोर, सिरोही  जिले सर्वाधिक प्रभावित हैं। जुलाई के अंतिम सप्ताह में गुजरात.....