२६ फरवरी से देसंविवि का १४वाँ वार्षिकोत्सव उत्सव- १६ का शुभांरभ

Published on 2016-02-25

विद्यार्थियों ने श्रमदान परंपरा को जोड़कर की एक नई शुरूआत

देव संस्कृति विश्वविद्यालय के छात्र- छात्राओं एवं आचार्यों ने मिलकर वार्षिकोत्सव से पूर्व श्रमदान किया। आज पूरा विश्वविद्यालय नए रंगों में रंगा नजर आया। ज्ञात हो कि देवसंस्कृति विश्वविद्यालय में २६ फरवरी से वार्षिकोत्सव ‘उत्सव- १६’ का शुभारंभ होगा। इसमें शारीरिक व बौद्धिक खेलों के साथ ही बड़े स्तर पर सांस्कृतिक संध्या का आयोजन होगा। इस कार्यक्रम के पूर्व ही विद्यार्थियों ने श्रमदान परंपरा को जोड़कर एक नई शुरूआत की।

इस सफाई अभियान में राष्ट्रीय सेवा योजना एवं स्काउट- गाइड के विद्यार्थी सहित विश्वविद्यालय परिवार उपस्थित रहे। विश्वविद्यालय के इस नई शुरूआत को कुलाधिपति डॉ० प्रणव पण्ड्याजी ने युवा क्रांति से जोड़कर स्वच्छ भारत अभियान से जुड़ने की अपील की।

देसंविवि के हरिमोहन व हर्षवर्धन राष्ट्रीय कुश्ती प्रतियोगिता हेतु रवाना

देसंविवि के विद्यार्थी पढ़ाई के साथ- साथ विभिन्न खेलों में भी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। यहाँ के विद्यार्थी कई देशी- विदेशी खेलों में जौहर दिखा चुके हैं। अब इसमें एक और ताजा नाम कुश्ती के क्षेत्र में जुड़ गया है। जब ३५ वीं राष्ट्रीय कुश्ती प्रतियोगिता के लिए बीए के छात्र हरिमोहन शर्मा व बीएससी के छात्र हर्षवर्धन भारद्वाज ने क्वालीफाय (qualify) किया। दोनों खिलाड़ी उत्तर प्रदेश के गोण्डा में २४ से २७ फरवरी को होने वाले राष्ट्रीय प्रतियोगिता में हिस्सा लेने आज देसंविवि से रवाना हुए। ये दोनों खिलाड़ी देवभूमि उत्तराखण्ड का प्रतिनिधित्व करेंगे।

छात्रों की इस उपलब्धि पर कुलाधिपति डॉ० प्रणव पण्ड्याजी ने अपनी शुभकामनाएँ देते हुए सफलता के लिए मार्गदर्शन किया। उन्होंने कहा कि पूर्ण मनोयोग के साथ शारीरिक एवं मानसिक दृढ़ता बनाये रखने से सफलता अवश्य मिलती है। प्रतिकुलपति डॉ० चिन्मय पण्ड्याजी के अनुसार छात्रों की सबसे बडी उपलब्धि यह है कि ये बच्चे आहार विहार के साथ योग को महत्व देते है। उन्होंने मंगल तिलक कर इनकी सफलता की कामना की, वहीं विश्वविद्यालय परिवार ने छात्रों का हौसला अफजाई के साथ विदा किया। विवि के कुश्ती कोच नरेन्द्र गिरि ने बताया कि इन दोनों छात्रों ने राज्य कुश्ती प्रतियोगिता के अन्तर्गत जनवरी माह में जसपुर, उधमसिंह नगर में हुए प्रतियोगिता में प्रतिभाग करते हुए उत्कृष्ट प्रदर्शन किया था।

img

२०० लिथुआनियाई करते हैं नियमित यज्ञ

११ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ की संभावनाएँ बनीं, शाखा भी स्थापित होगी

लिथुआनिया आयुर्वेद अकादमी द्वारा प्रज्ञायोग, यज्ञ जैसे विषयों पर लिथुआनिया आयुर्वेद अकादमी द्वारा एक बृहद् वार्ता रखी गयी थी। लगभग १५० लोगों ने इसमें भाग लिया। डॉ. चिन्मय जी ने.....

img

इंडोनेशिया और देव संस्कृति विश्वविद्यालय के बीच शिक्षा एवं सांस्कृतिक क्षेत्रों में सहयोग के लिए हुआ अनुबंध

इंडोनेशिया के धार्मिक मंत्रालय के हिन्दू निदेशालय ने भारतीय संस्कृति एवं वैदिक परम्पराओं के अध्ययन-अध्यापन हेतु देव संस्कृति विश्वविद्यालय के साथ अनुबंध किया है। देसंविवि प्रवास पर आये इंडोनेशियाई मंत्रालय के निदेशक श्री कटुत विद्वन्य और देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ......

img

बच्चों के मन मे सद्विचारों की प्रतिष्ठा कर रहे हैं पुस्तक मेले

पटियाला। पंजाब गायत्री परिवार पटियाला ने ७ जून को डीएवी पब्लिक स्कूल पत्रान में युग निर्माणी पुस्तक मेले का आयोजन किया। पुस्तक और उनके महान लेखक के विषय में जानकर वहाँ के आचार्य और विद्यार्थी सभी अभिभूत थे। नैष्ठिक परिजन सुश्री.....


Write Your Comments Here: