पीड़ितों के स्वास्थ्य लाभ एवं दिवंगत आत्माओं की शांति हेतु विशेष यज्ञ
 
     उत्तराखंड के प्राकृतिक आपदा पीड़ितों को हर संभव मदद करने के लिए गायत्री परिवार विगत १८ जून से सक्रिय है। आपदा प्रभावित जिलों के कई गाँवों में प्रतिदिन राहत कार्य के लिए शांतिकुंज आपदा प्रबंधन दल सक्रिय भूमिका निभा रहा है। इसी क्रम में बाढ़ प्रभावित लक्सर के पाँच ग्राम एवं देहरादून के जात नहरी गाँव के लिए शांतिकुंज आपदा राहत दल की दो टीमें गुरुवार प्रात: रवाना हुईं।
शांतिकुंज आपदा प्रबंधन विभाग प्रभारी एवं व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्मा ने बताया कि एक टीम लक्सर क्षेत्र के गंगदासपुर, महराजपुर खूर्द, पंडित पुरवा, खलसिया, डोमरपुरी गाँव में प्रेमलाल विरला व रमेश साहू के नेतृत्व में गयी। इस टीम द्वारा गाँवों के ग्रामीणों में भोजन पैकेट ३०००, राशन किट ४०० एवं तिरपाल २२५ बाँटी जायेगी। वहीं दूसरी टीम सुखदेव अनघोरे के नेतृत्व में देहरादून के जात नहरी गाँव में ग्रामीणों को राहत सामग्री बाँटने हेतु रवाना हुई। यह टीम आपदाग्रस्त लोगों में २६० राशन किट, ४० बर्तन सेट, कपड़े सेट ४०, तिरपाल ४० आदि वितरित करेगी। राशन किट में चावल व आटा - किग्रा, दाल, चीनी, तेल व अन्य खाद्य सामग्री है। कपड़े सेट में महिलाओं के लिए साड़ी, सलवार सूट व पुरुषों हेतु पेंट- शर्ट, धोती- कुर्ता शामिल है। उन्होंने बताया कि इन दोनों क्षेत्रों का एक दिन पूर्व शांतिकुंज राहत दलों द्वारा सर्वे किया गया था। सर्वे के अनुसार टीम के साथ राहत सामग्री भेजी गयी थी।
वहीं दूसरी ओर शांतिकुंज में प्राकृतिक आपदा में हताहत हुए लोगों की आत्मा की शांति एवं पीड़ितों के स्वास्थ्य लाभ हेतु विशेष यज्ञानुष्ठान चल रहा है। यह यज्ञ संस्था की अधिष्ठात्री शैलदीदी के नेतृत्व में बहिनों की टोली द्वारा संचालित हो रही है। इस अवसर पर डॉ प्रणव पण्ड्या ने कहा कि गायत्री परिवार उत्तराखण्ड आपदा पीड़ितों के साथ खड़ा है। गायत्री परिवार आपदा पीड़ितों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने में हरसंभव मदद करेगा। आपदा पीड़ितों को देवसंस्कृति वि .वि .एवं शांतिकुंज के स्वावलंबन विभाग द्वारा कुटीर उद्योग की नि:शुल्क प्रशिक्षण देने की भी योजना है, ताकि वे अपने पैरों में खड़े हो सके।


Write Your Comments Here:


img

समूह साधना कार्यक्रम |

वर्ष २०१४ को समूह साधना वर्ष घोषित किया जा रहा है। अपने- अपने स्तर से समूह साधना कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु, वंदनीया माताजी एवं परम पूज्य गुरुदेव का आशीर्वाद प्राप्त करने हेतु निम्र प्रकार से अपनी भागीदारी सुनिश्चित करना.....

img

विकलांग बच्चों के लिए शांतिकुंज ने दिया कम्प्यूटर !

लक्सर ब्लॉक के गांव हबीबपुर कुड़ी के शिक्षा निकेतन सामथिक संस्थान को शांतिकुंज ने कम्प्यूटर नि:शुल्क प्रदान किया। यह संस्थान ८ से १६ वर्ष के आयु वाले शारीरिक व मानसिक विकलांग बच्चों को नि:शुल्क पढ़ाने का कार्य करता है। इसके.....

img

देसंविवि के कागज उद्योग में लगा बीटर का शुभारंभ स्वावलम्बन में सुख- शांति निहित :: डॉ. प्रणव पण्ड्याजी

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज व देवसंस्कृति विवि में कागज व उससे विनिर्मित सामग्री के उपयोग की बढ़ती माँग को देखते हुए.....