उत्सव वह जो अपने अंदर उल्लास भर दे : डॉ. पण्ड्याजी

Published on 2017-03-09

देसंविवि में कुलपताका फहराने के साथ उत्सव- १७ का हुआ शुभारंभ
हरिद्वार ९ मार्च।

देवसंस्कृति विवि के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने विश्वविद्यालय की कुलपताका फहराकर १७वें वार्षिकोत्सव का शुभारंभ किया। इस अवसर पर डॉ. पण्ड्याजी ने तीन दिवसीय उत्सव- १७ के दौरान होने वाले विभिन्न खेलों एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं को सौहाद्रपूर्ण वातावरण में समस्त नियम- मर्यादाओं के साथ खेलने हेतु हाथ उठाकर शपथ दिलाई। पश्चात गणतंत्र दिवस के राष्ट्रीय परेड से भाग लेकर लौटे हरिमोहन व श्वेता सिद्धू ने मशाल लेकर पूरे मैदान की परिक्रमा की।

कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने कहा कि उत्सव हर व्यक्ति के जीवन का महत्वपूर्ण पल होता है। व्यक्ति को अपना हर पल उल्लास व उमंग के साथ व्यतीत करना चाहिए। उन्होंने कहा कि अपने साथ- साथ अपने सहपाठी, मित्र के जीवन में भी वासंती उल्लास पैदा करें। उन्होंने जोर देकर कहा कि राष्ट्रीयता की भावना से ओत प्रोत ऐसे उत्सवों का आयोजन होना चाहिए जिनसे राष्ट्र प्रेम एवं देश के विकास में सहयोग मिले। खेलों से हमें लोगों को जोड़ने की कोशिश करनी चाहिए। उत्सव- १७ के उद्घाटन सत्र में कुलाधिपति एकादश व छात्र एकादश के बीच १५- १५ ओवर के मैत्री क्रिकेट मैच खेला गया जिसमें कुलाधिपति डॉ पण्ड्याजी, कुलपति श्री शरद पारधी, प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्याजी एवं कुलसचिव संदीप कुमार ने हिस्सा लेते हुए ६ विकेट में १०१ रन बनाये। जबाव में छात्र एकादश के मनीष व कुणाल के शानदार प्रदर्शन से १२.५ ओवर में ही १०२ रन बनाकर जीत दर्ज की।

सांस्कृतिक प्रतियोगिता प्रभारी डॉ. शिवनारायण प्रसाद ने बताया कि सांस्कृतिक प्रतियोगिता के अंतर्गत शास्त्रीय गायन, सुगम संगीत एवं नृत्य प्रतियोगिता में विद्यार्थियों ने अपनी प्रतिभा दिखाई। खेल अधिकारी नरेन्द्र सिंह ने बताया कि छात्र- छात्राओं का अलग- अलग वर्ग में क्रिकेट, कबड्डी, खो- खो, हेमर थ्रो, बॉलीबाल, फूटबॉल, चक्का फेंक, भाला फेंक, त्रि- कूद आदि खेलों का आयोजन होगा। इनमें से कुछ तो राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन कर चुके हैं। प्रथम दिन हुए छात्र वर्ग के ८०० मीटर दौड़ में दीपक शर्मा ने प्रथम, गौतम सिंह ने द्वितीय तथा छात्रा वर्ग के ४०० मीटर रेस में श्वेता सिद्धू ने प्रथम, हेमलता ने द्वितीय स्थान पर रहे। वहीं टेबल टेनिस में प्रशांत ने पहला तथा शिखर साहू दूसरे स्थान पर रहे। बॉस्केट बॉल प्रतियोगिता (छात्र वर्ग) में बीएससी की टीम ने एमए व एमएससी की टीम को हराकर प्रथम स्थान प्राप्त किया। खो- खो, वालीबाल व अन्य खेलों में भी विद्यार्थियों ने दमखम दिखाया।

img

१०८ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ तेलुगु चौधरी समाज के परिजनों द्वारा संपन्न

तेनाली गुण्टूर जिला (आन्ध्रप्रदेश)१०८ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ तेलुगु चौधरी समाज के परिजनों ने संपन्न कराया। जिससे गुण्टूर, कृष्णा जिले के परिजनों ने घर- घर देवस्थापना कार्यक्रम संपन्न कराकर २४ लाख गायत्री मन्त्र लेखन किया और २४ सौ गायत्री चालीस पाठ.....

img

अश्वमेध गायत्री महायज्ञ- मंगलगिरी प्रयाज कार्यक्रम

२७ तेलुगु साधकों को मुन्स्यारी विशिष्ट साधना शिविर में भागीदारी। यह शिविर तेलुगु भाषा में दिनचर्या से लेकर गुरुदेव माताजी के प्रवचन तक सभी उनकी ही भाषा में अनुवादित कर दिया गया। लोगों को यह शिविर जीवन का भूतो न.....

img

हैदराबाद में डॉ. चिन्मय पंड्या जी का कार्यक्रम

६ जुलाई, हैदराबाद (तेलंगाना)डॉ. चिन्मय पंड्या जी का कार्यक्रमदोपहर १२:०० बजे NFI  में मीटिंग हुई।सायं ४:०० बजे गायत्री ज्ञान मंदिर बोइनपल्ली, सिकन्द्राबाद में युग वेदव्यास भवन की आधार शिला डॉ. चिन्मय पंड्या जी ने राखी। उपस्थित परिजनों को भविष्य में.....