१०८ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ, चिराला, प्रकाशम् जिला (आन्ध्र प्रदेश)

Published on 2017-07-08
img

विशेषताएं:- भव्य यज्ञशाला सजाया गया। पेड़ पौधों से लेकर सदवाक्यों तक।
२१११६ कलशों द्वारा मंगल कलश शोभा यात्रा।
११११६ दीपकों द्वारा विराट दीपमहायज्ञ।
विराट साहित्य स्टॉल ।।
११०० गायत्री मन्त्र दीक्षा।
१६ हजार से ज्यादा लोगों की भागीदारी।

१७, १८, १९ जून १०८ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ के साथ तीन दिनों तक चले कार्यक्रम में प्रथम दिवस सायं ०४:०० बजे मंगल कलश यात्रा २११६ कलशों की भव्य यात्रा निकाली, उसके बाद सायं नारी जागरण विषय पर श्री काली चरण शर्मा जी ने उद्बोधन किया। जिसका अनुवादन श्रीमती प्रशान्ति शर्मा ने किया।

दूसरे दिन देवपूजन पहली बार प्रातः ०६:०० बजे यज्ञशाला देवपूजन के लिए जोड़ों के साथ भर गयी। देवपूजन में सभी को आनन्द आया। गायत्री मन्त्र दीक्षा डॉ. बृजमोहन गौड़ जी ने सम्पन्न कराई। कई परियों में यज्ञ चलता रहा। दोपहर ०३:०० बजे से कार्यकर्ता विशेष गोष्ठी सम्पन्न हुई। आन्ध्रप्रदेश प्रदेश एवं तेलंगाना स्टेट प्रकाशम्, गुण्टूर, कृष्णा, हैदराबाद, वारंगल, खम्मम, करीमनगर आदि जनपदों के साथ चेन्नई के चुने हुए सक्रिय कार्यकर्ताओं की सामूहिक गोष्ठी संपन्न हुई जिसमें अश्वमेध महायज्ञ मंगलगिरी की सफलता के लिए सभी के विचार आदान- प्रदान किये गए। गोष्ठी में श्री कालीचरण शर्मा जी ने पूर्वानुमानित अश्वमेध व्यवस्था पर प्रकाश डाला और कार्यकर्ताओं को जागरूक किया, डॉ. बृजमोहन गौड़ जी भाई साहब ने सभी की बात सुननें के बाद उनको पूज्य गुरुदेव के विचार कणों से अनुप्राणित किया। सभी परिजनों की अपनी व् शाखा की समस्याएँ थी उनका समाधान कर नयी ऊर्जा से भर दिया गया।

विराट दीप महायज्ञ ११११६ दीपको को यज्ञशाला में सजाया गया। दीप महायज्ञ में युवा जोड़ो अभियान पर श्री कालीचरण शर्मा जी ने उद्बोधन किया उसके बाद डॉ. बृजमोहन गौड़ जी ने अश्वमेध महायज्ञ के उद्देश्य प्रयोजन पर प्रकाश डाला। तत्पश्चात श्री उमेश कुमार शर्मा एवं तेलुगु टिप्पणी के साथ श्रीमती प्रशान्ति शर्मा ने दीपमहायज्ञ कराया दीपयज्ञ की छटा देखते ही बनती थी।

तृतीय दिवस प्रातः यज्ञ, विभिन्न संस्कार सम्पन्न हुए यज्ञ कई परियों में हुआ बाद में महापूर्णाहुतिः संपन्न की गयी। पूरे कार्यक्रम का सञ्चालन तेलुगु भाषा में श्रीमती प्रशान्ति शर्मा ने किया। तथा विशेष उद्बोधनों को तेलुगु अनुवादन भी किया।

शान्तिकुञ्ज की संगीत टोली श्री भाव सिंह तोमर ने तेलुगु गीत गए श्री हुकुम चन्द वादक श्री नेगी ने कैसियो द्वारा म्यूजिक दिया। श्री फूल सिंह तेलुगु गायक, श्री चंद्रशेखर ने वायलन बजायी। श्री एन वी शिवाजी राव ने मञ्च पर लोगों से पूजन कराया।


img

१०८ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ तेलुगु चौधरी समाज के परिजनों द्वारा संपन्न

तेनाली गुण्टूर जिला (आन्ध्रप्रदेश)१०८ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ तेलुगु चौधरी समाज के परिजनों ने संपन्न कराया। जिससे गुण्टूर, कृष्णा जिले के परिजनों ने घर- घर देवस्थापना कार्यक्रम संपन्न कराकर २४ लाख गायत्री मन्त्र लेखन किया और २४ सौ गायत्री चालीस पाठ.....

img

अश्वमेध गायत्री महायज्ञ- मंगलगिरी प्रयाज कार्यक्रम

२७ तेलुगु साधकों को मुन्स्यारी विशिष्ट साधना शिविर में भागीदारी। यह शिविर तेलुगु भाषा में दिनचर्या से लेकर गुरुदेव माताजी के प्रवचन तक सभी उनकी ही भाषा में अनुवादित कर दिया गया। लोगों को यह शिविर जीवन का भूतो न.....

img

हैदराबाद में डॉ. चिन्मय पंड्या जी का कार्यक्रम

६ जुलाई, हैदराबाद (तेलंगाना)डॉ. चिन्मय पंड्या जी का कार्यक्रमदोपहर १२:०० बजे NFI  में मीटिंग हुई।सायं ४:०० बजे गायत्री ज्ञान मंदिर बोइनपल्ली, सिकन्द्राबाद में युग वेदव्यास भवन की आधार शिला डॉ. चिन्मय पंड्या जी ने राखी। उपस्थित परिजनों को भविष्य में.....